टोरंटो, एजेंसी। जस्टिन ट्रूडो कनाडा के प्रधान मंत्री बने रहेंगे। उनकी पार्टी ने एक बार फिर से आम चुनावों में जीत हासिल की है। बताया गया कि उनकी लिबरल पार्टी के पास केवल अल्पमत सीटें होंगी और ट्रूडो सोमवार के चुनाव के बाद सत्ता पर काबिज रहेंगे। सोमवार को अनौपचारिक चुनाव परिणामों के मुताबिक, वह प्रधान मंत्री व फिर से अल्पमत सरकार के प्रमुख के रूप में बने रहेंगे।

कनाडा के प्रधान मंत्री के मुख्य प्रतिद्वंद्वी ने हार मान ली थी, जिसके बाद वे सोमवार को सत्ता पर काबिज हो गए। पीएम ट्रूडो ने कहा, ' उन्होंने शासन करने के लिए एक स्पष्ट जनादेश जीता है, हालांकि वह बहुमत हासिल करने के अपने लक्ष्य से दूर रह गए।'

ट्रूडो, 2015 से सत्ता में हैं और 2019 से हाउस आफ कामन्स की अल्पसंख्यक सीटों के साथ शासन कर रहे हैं। बता दें कि पीएम ने जल्दी वोटिंग कराकर एक जुआ खेलने का फैसला किया और महामारी से निपटने के लिए अपनी सरकार को भुनाने का फैसला किया। विपक्ष द्वारा ट्रूडो पर दो साल पहले चुनाव कराने का आरोप लगता रहा, लेकिन ट्रूडो ने कहा कि कनाडा के लोग महामारी के दौरान कंजरवेटिव पार्टी की सरकार नहीं चाहते। ट्रूडो का मानना है कि हमारी सरकार टीकाकण दर, लोगों के रोजगार, बिजनेस को बढ़ाने के लिए काम करेगी।

रूढ़िवादी नेता एरिन ओ'टोल, जिनकी पार्टी दूसरे स्थान पर रही, ने हार मान ली। ट्रूडो ने शीघ्र ही समर्थकों से बात की, सभी कनाडाई लोगों की भलाई के लिए अन्य पार्टियों के साथ काम करने का वचन दिया।

ट्रूडो ने होटल में इकट्ठी एक भीड़ से कहा, 'आप हमें इस महामारी से बाहर निकालने और आगे के उज्जवल दिन वापस लाने के लिए पूर्ण जनादेश देकर काम पर भेज रहे हैं। आज रात हमने जो देखा है, वह यह है कि लाखों कनाडाई लोगों ने एक प्रगतिशील योजना को चुना है।'

चुनाव कनाडा ने राष्ट्रीय स्तर पर 156 चुनावी जिलों में लिबरल को आगे दिखाया। हाउस आफ कामन्स में 338 सीटें हैं और एक पार्टी को बहुमत हासिल करने के लिए 170 जीत की जरूरत होती है। कंजर्वेटिव ने 122 जिलों में जीत हासिल की।

Edited By: Nitin Arora