वाशिंगटन, प्रेट्र। व्हाइट हाउस ने गुरुवार को भारत और चीन के बीच सीमा को लेकर चल रहे विवाद में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मध्यस्थता वाले प्रस्ताव पर किसी तरह की टिप्पणी से इनकार कर दिया।  व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव केलिग मैकएनानी  (Kayleigh McEnany) से मीडिया ने राष्ट्रपति के ट्वीट के बारे में जानकारी मांगी थी।भारत और चीन की सेना के बीच बढ़े तनाव के मद्देनजर राष्ट्रपति ट्रंप ने बुधवार को ट्वीट कर कहा था कि वे दोनों देशों के बीच मध्यस्थता के लिए तैयार हैं। 

ट्वीट में उन्होंने कहा, 'हमने भारत और चीन को सूचित कर दिया है कि अमेरिका दोनों देशों के बीच सीमा को लेकर चल रहे तनाव में मध्यस्थता के लिए तैयार है।'  उल्लेखनीय है कि इसी सप्ताह मंगलवार को लद्दाख के भारतीय सीमा में  चीनी सैनिकों के घुसकर टेंट बनाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अजीत डोभाल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस बिपिन रावत व तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ बैठक की थी जिसे अंतरराष्ट्रीय मीडिया में काफी प्रमुखता से जगह मिली। इसके पहले डोकलाम विवाद में भी अमेरिका ने भारत का पक्ष लिया था।

हालांकि भारत ने ट्रंप के इस ऑफर से इनकार कर दिया। नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि सीमा विवाद के शांतिपूर्ण समाधान को लेकर भारत चीन से बात कर रहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने यह जानकारी दी। हालांकि चीन के विदेश मंत्रालय से अब तक इस पर किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं आई है। हालांकि चीन के ग्लोबल टाइम्स ने अपने संपादकीय में लिखा है कि दोनों देशों को ट्रंप से इस तरह के मदद की जरूरत नहीं है।  चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने बुधवार को कहा कि चीन और भारत के पास इसके लिए कम्युनिकेशन व मेकैनिज्म की उचित व्यवस्था है ताकि वार्ता के जरिए इस मसले को हल किया जा सके। 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस