नई दिल्‍ली ऑनलाइन डेस्‍क। यह संयोग है कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव और बिहार विधानसभा चुनाव एक समय पर हो रहे हैं। दोनों जगह सरकार बनाने की होड़ चल रही है और सियासी पारा गरम है। अमेरिका में होने वाले राष्‍ट्रपति जो बाइडन और उप राष्‍ट्रपति का चुनाव जीतने वालीं कमला हैरिस ने भारत से अपना गहरा नाता बताया है। खास बात यह है कि इन द‍िनों सोशल मीडिया में यह बात वायरल हो रही है कि अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति का बिहार कनेक्‍शन भी है। आखिर क्‍या है सोशल मीडिया का सच ? इसके साथ हम आपको यह भी बताएंगे कि बाइडन और कमला हैरिस का भारतीय नाता क्‍या है।

देशमुख का एक ट्वीट में बाइडन और कमला का बिहार कनेक्‍शन

पहले हम आपको बताते हैं कि जो बाइडन का बिहार कनेक्‍शन क्‍या है। कैसे यह संदेश सोशल मीडिया पर वायरस हो रहा है। अमेरिका के राष्‍ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्‍मीदवार जो बाइडन और रिपब्लिकन पार्टी के प्रत्‍याशी डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच कांटे की टक्‍कर में बाइडन ने एक शानदार जीत हासिल की। वह देश के 46वें राष्‍ट्रपति बनेंगे। इस चुनाव में भारतीय मूल की कमला हैरिस उप राष्‍ट्रपति पद के लिए निर्वाचित हुई। चुनाव के दौरान कमला हैरिस ने अपने को भारतीय मूल का बताया तो बाइडन ने भी अपना भारतीय लिंक बताया। विजेताओं को देश दुनिया से बधाई संदेश मिल रहे हैं। बॉलीवुड स्‍टार्स ने भी ट्वीट के जरिए बधाई संदेश दे रहे हैं। इस बीच अभिनेता रितेश देशमुख का एक ट्वीट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस ट्वीट में बाइडन और कमला हैरिस का बिहार कनेक्‍शन खोज निकाला है। उनकी इस खोज और क्रिएटिव‍िटी को खूब लाइक किया जा रहा है। बिहार के चुनावी माहौल में यह ट्वीट खूब पसंद किया जा रहा है।

बाइडन का क्‍या है भारतीय लिंक, एक पत्र ने किया भावुक

बाइडन वर्ष 2013 में बतौर उपराष्ट्रपति भारत आए थे। उस वक्‍त उन्होंने मुंबई में एक भाषण के दौरान अपने भारतीय कनेक्‍शन को उजागर किया था। बाइडन ने कहा था कि वर्ष 1972 में जब वह पहली बार सीनेट के सदस्य बने थे, तो उन्हें मुंबई से एक पत्र मिला था। इस पत्र में पत्रवाहक ने कहा था कि बाइडन और उसके पूर्वज एक ही हैं। उक्त पत्र में ही यह जानकारी दी गई थी कि उनके पूर्वज 18वीं सदी में ईस्ट इंडिया कंपनी में काम करते थे। अपने भाषण में बाइडन ने अफसोस भी जताया था कि इस बारे में वह विस्तार से पता नहीं लगा सके। यह पत्र उनके मन में गहरे से अंकित हो गया था। यही वजह है कि वर्ष 2015 में उन्‍होंने वाशिंगटन में इंडो-यूएस फोरम की बैठक में फिर इस घटना का जिक्र किया था। उन्‍होंने बताया कि संभवत: उनके पूर्वज ने एक भारतीय महिला से शादी की थी, जिसके परिवार के लोग अभी भी वहां हैं। उन्होंने यह भी बताया कि मुंबई में तब बाइडन सरनेम के पांच लोग थे, जिनके बारे में एक पत्रकार ने उन्हें जानकारी दी थी। तब बाइडन ने यह चुटकी भी ली थी कि वह भारत में भी चुनाव लड़ सकते हैं।

यह भी देखें: Joe Biden की जीत से भारत-अमेरिका के रिश्तों में क्या बदलेगा

Edited By: Ramesh Mishra