वॉशिंगटन, एजेंसी। अमेरिका और ताइवान ने आपसी व्यापार और निवेश संबंधों को और गहरा करने के लिए एक व्यापारिक पहल के तहत औपचारिक बातचीत शुरू कर दी है। बुधवार को उप अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि सारा बियांची ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि AIT (American Institute in Taiwan) और TECRO (Taipei Economic and Cultural Representative Office in the United States) के तत्वावधान में ताइवान के साथ बातचीत शुरू कर दी है, जो अमेरिका के साथ उसके व्यापार और निवेश के संबंधों को गहरा करेगा।

अमेरिका और ताइवान के बीच व्यापारिक वार्ता

बियांची ने कहा कि दोनों देशों के बीच साझा मूल्यों पर आधारित बातचीत आपसी व्यापार प्राथमिकताओं को आगे बढ़ाएगा और हमारे श्रमिकों और व्यवसायों के लिए नवाचार और समावेशी आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा। अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि ने अपने बयान में बताया कि इस साल के सिंतबर में बातचीत की पहली दौर होने की संभावना है।

बता दें कि इसी साल 1 जून को AIT और TECRO के तत्वावधान में संयुक्त राज्य अमेरिका और ताइवान ने 21वीं सदी के व्यापार पर यूएस-ताइवान पहल के तहत वार्ता के लिए एक महत्वाकांक्षी रोडमैप विकसित करने के अपने इरादे की घोषणा की थी। बुधवार को दोनों देशों ने व्यापार सुविधा, अच्छी नियामक प्रथाओं, मजबूत भ्रष्टाचार विरोधी मानकों, लघु और मध्यम उद्यमों के बीच व्यापार बढ़ाने, कृषि व्यापार को बढ़ावा देने, व्यापार के लिए भेदभावपूर्ण बाधाओं को दूर करने पर बातचीत के लिए एजेंडा निर्धारित किया है।

ताइवान-यूएस की नजदीकियों से चीन की मुश्किले बढ़ी

गौरतलब है कि अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद पिछले हफ्ते अमेरिकी सांसदों के एक नए प्रतिनिधिमंडल ने ताइवान का दौरा किया। इधर, अमेरिका-ताइवान की बढ़ती नजदीकियों से नाराज होकर चीन ने ताइवान के आस पास बड़े पैमाने पर सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया। अब अमेरिका और ताइवान के औपचारिक व्यापारिक वार्ता के बाद चीन की बौघलाहट फिर से बढ़ सकती है।

Edited By: Aditi Choudhary