न्यू जर्सी, रायटर। अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध के बाद अगला नंबर दिग्गज टेक कंपनी अलीबाबा का हो सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐसे ही संकेत दिए हैं। प्रेस कांफ्रेंस में एक सवाल पूछा गया कि क्या सरकार अलीबाबा जैसी चीनी स्वामित्व वाली कुछ और कंपनियों पर भी शिकंजा कसने जा रही है। इस पर ट्रंप ने कहा, 'ठीक है, हम और भी संभावनाएं तलाश रहे हैं। हां, यह हो सकता है।'

ट्रंप प्रशासन चीनी कंपनियों पर लगातार दबाव बढ़ा रहा है। चीनी एप टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस को अपना अमेरिकी कारोबार बेचने के लिए ट्रंप प्रशासन ने 90 दिनों का वक्त दिया है। अमेरिकी यूजर्स के निजी डाटा और राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं के मद्देनजर तमाम चीनी कंपनियां ट्रंप प्रशासन की नजर में खटक रही हैं। अलीबाबा को लेकर ट्रंप के ताजा बयान से चीन की बेचैनी बढ़ सकती है।

चीनी एप अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा

बता दें कि पिछले सप्ताह ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टिकटॉक और वीचैट के चीनी मालिकों से लेन-देन करने पर रोक लगा दी थी। उनका कहना था कि चीनी एप अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था के लिए खतरा हैं। यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया कि अमेरिका में टिकटॉक के 10 करोड़ यूजर्स के लिए ट्रंप के इस आदेश का क्या मतलब है। ट्रंप के ताजा आदेश में यह भी कहा गया था कि बाइटडांस टिकटॉक के अमेरिकी यूजर्स से लिए गए या मिले हुए किसी भी प्रकार का डाटा भी दे।

अपने राष्ट्रपति कार्यकाल में ट्रंप चीन के साथ अमेरिका के व्यापारिक रिश्तों को पूरी तरह पलट चुके हैं। वे कोरोना महामारी को लेकर भी शुरू से ही चीन के खिलाफ आक्रामक नीति अपनाए हुए हैं। वहीं, अब वह चीनी एप व वहां की बड़ी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाए जाने पर विचार कर रहे हैं। 

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस