वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को घोषणा की कि उनके डिप्टी माइक पेंस देश में कोरोनावायरस के खिलाफ प्रशासन के प्रयासों का नेतृत्व करेंगे। भारत से लौटने के कुछ ही घंटे बाद ट्रंप ने बुधवार को अमेरिका में कोरोना वायरस की स्थिति का जायजा लेने के लिए कई बैठकें की। देर शाम व्हाइट हाउस में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने घोषणा की कि उप राष्ट्रपति माइक पेंस दुनियाभर में वायरस के प्रसार को रोकने के प्रयासों का नेतृत्व करेंगे। कोरोना वायरस के कारण अब तक 2700 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, 'हम वास्तव में अच्छा कर रहे हैं और अब माइक पेंस प्रभारी बनाए जा रहे हैं। माइक मुझे वापस रिपोर्ट सौंपेंगे।' राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी लोगों की सुरक्षा उनके लिए प्राथमिकता थी, क्योंकि उन्होंने पहले प्रभावित क्षेत्रों से उड़ानें रोक दी थीं। उन्होंने कहा कि हमने जो भी किया है, उसके कारण अमेरिकी लोगों के लिए जोखिम बहुत कम है," उन्होंने कहा कि बीमारी को रोकने के लिए वे हर संभव प्रयास करने के लिए तैयार थे। राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि वह इस मुद्दे पर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग सहित कई विश्व नेताओं के संपर्क में हैं।

व्हाइट हाउस ने कांग्रेस से वायरस से लड़ने के लिए 2.5 बिलियन अमरीकी डालर का अनुरोध किया है।प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में ट्रंप ने कहा कि उन्होंने गैर-नागरिकों को चीन से अमेरिका में प्रवेश करने से रोक दिया है और लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है।उन्होंने कहा, 'हमने संक्रमित लोगों और जोखिम वाले लोगों को छोड़ दिया है। हमारे पास बहुत सारी शानदार सुविधाएं हैं।'

पेंस ने संवाददाताओं को बताया कि राष्ट्रपति ने वायरस को रोकने के लिए अभूतपूर्व उपाय किया था। उन्होंने कहा, 'यात्रा प्रतिबंधों की स्थापना, अमेरिकियों का आक्रामक संगरोध प्रयास, सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा और व्हाइट हाउस कोरोना टास्क फोर्स की स्थापना सभी तात्कालिकता है जो राष्ट्रपति ने पूरे सरकारी दृष्टिकोण के लिए लाया है।'

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस