वॉशिंगटन,पीटीआइ। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि एक बड़े हथियार नियंत्रण जैसे समझौते पर रूस और चीन दोनों के साथ बातचीत चल रही है। ट्रंप ने सोमवार को व्हाइट हाउस के दक्षिण लॉन में संवाददाताओं से कहा, "हम अभी हथियार नियंत्रण देख रहे हैं। हम चीन और रूस के साथ काम कर रहे हैं।

उन्होंने आगे कगा कि मुझे लगता है कि वे दोनों इसे विशेष रूप से करना पसंद करेंगे क्योंकि हम परमाणु हथियारों के बारे में बात कर रहे हैं, लेकिन हम रूस और चीन के साथ एक प्रमुख हथियार नियंत्रण-प्रकार के समझौते को देख रहे हैं। गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति एक रूसी संवाददाता के एक सवाल का जवाब दे रहे थे। हालांकि, उन्होंने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि क्या उन्होंने न्यू स्ट्रेटेजिक आर्म्स रिडक्शन ट्रीटी का विस्तार करने की मांग की है।

बता दें कि हाल ही में ट्रंप प्रशासन ने दुनिया के देशों अपील करते हुए रूस और चीन से हथियार नहीं खरीदने की अपील की थी। अमेरिका ने कहा कि ये दोनों देश दुनिया में अपना प्रभाव बढ़ाने के लिए हथियारों की बिक्री का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने कहा था कि इससे माहौल विषैला बन रहा है। हालांकि सहायक विदेश मंत्री क्लार्क कूपर ने किसी देश का नाम नहीं लिया था। हालांकि अमेरिका कई बार ये प्रयास कर चुका है कि भारत रूस से  एस-400 ट्रिंफ एयर डिफेंस सिस्टम ना खरीदें। अमेरिका ने ऐसी ही कोशिश तुर्की को भी इस सिस्टम को खरीदने से रोकने के लिए कर चुका है।

दरअसल, भारत ने अक्टूबर 2018 रूस के साथ करीब  40 हजार करोड़ रुपये में  एस-400 सिस्टम की खरीद के लिए सौदा किया है। हाल ही में इसकी राशी भी दी जा चुकी है। वहीं, अमेरिका के राजनीतिक व सैन्य मामलों के सहायक विदेश मंत्री क्लार्क कूपर ने कहा था कि सहयोगी देशों को रूस और चीन से हथियार खरीदनें की अनुमति नहीं दी जा सकती है। 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप