वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका ने एक तस्करी नेटवर्क की मदद करने के आरोप में यूएई में रहने वाले भारतीय नागरिक पर प्रतिबंध लगा दिया है। अमेरिका का कहना है कि मनोज सभरवाल एक ऐसे तस्करी नेटवर्क का हिस्सा है, जो ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड और यमन के हाउती विद्रोहियों की मदद करता है। अमेरिका के मुताबिक, ईरान स्थित हाउती फाइनेंसर सईद अल जमाल के नेतृत्व में यह नेटवर्क ईरानी पेट्रोल और अन्य वस्तुएं बेचकर लाखों डालर कमाता है। इन पैसों से इसने कई देशों में हाउती विद्रोहियों के लिए मकान खरीदा है।

सभरवाल एक समुद्री शिपिंग पेशेवर है जो सईद अल जमाल के नेटवर्क के लिए शिपिंग का प्रबंधन करता है और उसको ईरानी तेल उत्पादों की तस्करी पर सलाह देता है।

अल जमाल ईरान में रहता है। वह पश्चिम एशिया, अफ्रीका और एशिया में ग्राहकों को ईरानी ईंधन, पेट्रोलियम उत्पादों और अन्य वस्तुओं की तस्करी करने वाली कंपनियों और जहाजों के नेटवर्क को निर्देशित करता है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप