सिंगापुर, रायटर/एएफपी। अमेरिका ने चीन को दक्षिण चीन सागर में किसी तरह का धौंस दिखाने से बाज आने को कहा है। अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने शनिवार को आगाह किया कि उनका देश चीन के साथ परिणाम आधारित संबंध बनाना चाहता है। लेकिन, यदि चीन ने दक्षिण चीन सागर में जोर-जबर्दस्ती करना जारी रखा, तो जरूरत पड़ने पर अमेरिका उसका जवाब देने को तैयार है। मैटिस ने शांगरी-ला डायलॉग को संबोधित करते हुए यह बात कही।

अमेरिकी रक्षा मंत्री का यह बयान ऐसे मौके पर आया है, जब दक्षिण चीन सागर को लेकर दोनों देशों के संबंधों में तनाव बढ़ गया है। इसी महीने बीजिंग की यात्रा पर जाने वाले मैटिस ने कहा कि इस समुद्री इलाके में चीन हर तरह के खुलेपन का विरोध कर रहा है। यह हमारी नीति के खिलाफ है। हम चीन के साथ परिणाम आधारित और रचनात्मक संबंध बहाल करने का प्रयास करते रहेंगे।

उल्लेखनीय है कि पिछले महीने चीन ने दक्षिण चीन सागर के वूडी द्वीप पर बमवर्षक विमान उतारा था। इसके अलावा चीनी सैनिकों को प्रशिक्षण भी दिया गया था। वियतनाम और फिलीपींस ने इस पर चिंता जताई थी। 12 मई को उपग्रह द्वारा लिए गए एक चित्र से पता चला कि चीन ने वूडी द्वीप पर सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल को भी तैनात किया था। मैटिस ने कहा कि चीन के दावों के विपरीत हथियारों की तैनाती से साफ है कि वह इस इलाके में धमकी और जोर-जबर्दस्ती से काम लेना चाहता है।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस