वाशिंगटन, पीटीआइ। दुनियाभर से कोरोना महामारी खत्म करने के बाइडन प्रशासन के आवाहन के मद्देनजर अमेरिका ने विश्व को कोरोना वैक्सीन की 5.5 करोड़ खुराक आवंटित करने की अपनी योजना की घोषणा की है। इसमें से भारत, पाकिस्तान और नेपाल जैसे 18 एशियाई देशों को 1.6 करोड़ खुराक मिलेगी। बता दें कि अमेरिका द्वारा दुनिया को मुहैया कराई जा वैक्सीन की यह दूसरी खेप होगी।

दूसरी खेप में सोमवार को घोषित 55 मिलियन (5.50 करोड़) वैक्सीन खुराक में से 16 मिलियन (1.60 करोड़) भारत, नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मालदीव और भूटान जैसे 18 एशियाई देशों के लिए आवंटित किए गए हैं। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं है कि किस देश कितनी वैक्सीन मुहैया कराई जाएगी। व्हाइट हाउस की फैक्ट शीट में इसे लेकर सटीक आंकड़े नहीं दिए गए।

बाइडन-हैरिस प्रशासन ने अब तक अमेरिका की अपनी वैक्सीन आपूर्ति की 80 मिलियन (आठ करोड़) खुराक आवंटित की हैं, जिसे राष्ट्रपति जो बाइडन ने जून के अंत तक वैश्विक स्तर पर महामारी को समाप्त करने के अपने प्रयासों के तहत आवंटित करने का वादा किया था। व्हाइट हाउस के अनुसार इन 8 करोड़ खुराक में से 75 प्रतिशत अमेरिका कोवैक्स के माध्यम से  साझा करेगा और 25 प्रतिशत को दुनियाभर में कोरोना के मामलों में उछाल से निपटने में मदद करने के लक्ष्य के लिए रखा जाएगा।

सीएनएन के अनुसार इनमें मॉडर्ना, फाइजर और जॉनसन एंड जॉनसन कोविड -19 टीके शामिल होंगे। एस्ट्राजेनेका के टीके को संघीय नियामकों द्वारा अनुमोदित नहीं किया गया है। बता दें कि भारत में टीकाकरण के लिए इस टीके का इस्तेमाल हो रहा है। पुणे स्थित सीरम इसे बनाता है। इसके अलावा और 100,000 करोड़ डोज अफ्रीकी देशों के साथ साझा किए जाएंगे। व्हाइट हाउस ने कहा कि लगभग 14 मिलियन (1.4 करोड़) या इन 55 मिलियन (5.5 करोड़) टीकों में से 25 प्रतिशत क्षेत्रीय प्राथमिकताओं और कैरिकॉम देशों जैसे अन्य प्राप्तकर्ताओं के साथ साझा किए जाएंगे।

Edited By: Tanisk