न्यूयॉर्क,एएनआइ। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे को उठाने की असफल कोशिश की। इस दौरान उसकी एक बार फिर फजीहत हुई। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि बंद कमरे में हुई अनौपचारिक बैठक में शामिल सभी देशों ने इसे द्विपक्षीय मुद्दा बताकर कश्मीर को लेकर अपना रुख स्पष्ट कर दिया। साथ ही परिषद ने कहा कि यह मुद्दा ऐसा नहीं है, जिसपर समय और ध्यान दिया जाए। 

तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत ने बुधवार को पाकिस्तान को इस हरकत पर एक बार फिर लताड़ लगाई और कहा कि पूरी दुनिया कश्मीर मुद्दे  को द्विपक्षीय मुद्दा मानती है। यह ऐसा मुद्दा नहीं है जिसपर अतंरराष्ट्रीय संस्था अपना समय और ध्यान केंद्रित करे। तिरुमूर्ति ने कहा कि बैठक मौजूद लगभग सभी देश इस बात से सहमत दिखे कि कश्मीर मुद्दा भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मुद्दा है। ऐसे में पाकिस्तान एक बार फिर अपने ऐजेंडे में असफल हो गया। इस बीच समाचार एजेंसी एएनआइ को एक सूत्र ने जानकारी दी कि परिषद की बैठक में अमेरिका ने मोर्चा संभालते हुए इस मुद्दे पर कोई निर्णय नहीं होने देने को लेकर भारत के साथ खड़ा रहा।

गौरतलब है कि भारत ने ठीक एक साल पहले जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और इसे दो भाग में बांटने का फैसला किया था। इस फैसले से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। वह लगातार इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र समेत अन्य वैश्विक पटल पर उठाने की कोशिश करता रहा। दरअसल, पाकिस्तान इस मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करना चाहता हा, जिसमें वह अभी तक असफल रहा है। भारत ने इसे लेकर उसे बार-बार फटकार लगाई है। इसके बाद भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आता। पाकिस्तान ने अपने इस असफल अभियान को आगे बढ़ाते हुए परिषद के स्थायी सदस्य चीन को अपने पक्ष में लाने का प्रयास किया। परिषद के 15 सदस्यों की बंद कमरे में यह अनौपचारिक बैठक हुई। इस दौरान हुई चर्चा में से कुछ भी रिकॉर्ड पर नहीं लिया गया और ना ही मीडिया में किसी तरह का बयान जारी किया गया।      

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस