ह्यूस्टन, पीटीआई। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ ह्यूस्टन ने अपने एक विभाग का नाम मध्य प्रदेश से अमेरिका जाकर ह्यूस्टन में बस गए दुर्गा डी अग्रवाल और सुशीला अग्रवाल के नाम पर रखा है। शोध कार्यो, शिक्षकों और छात्रों के लिए खुलकर मदद देने के कारण यूनिवर्सिटी के इंजीनिय¨रग रिसर्च विभाग को अब उनके नाम से जाना जाएगा।

गत 26 अप्रैल को यूनिवर्सिटी की भारतवंशी चांसलर रेणू खाटोर, अमेरिका में भारत के महावाणिज्य दूत अनुपम रे और अन्य गणमान्य लोगों की उपस्थिति में इस विभाग की इमारत को नया नाम दिया गया। इसका नाम अब दुर्गा डी और सुशीला अग्रवाल इंजीनिय¨रग रिसर्च बिल्डिंग हो गया है। 74 वर्षीय दुर्गा अग्रवाल इस यूनिवर्सिटी के छात्र रह चुके हैं। 

1968 में भारत से ह्यूस्टन आए दुर्गा अग्रवाल ने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनिय¨रग से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी। यूनिवर्सिटी ऑफ ह्यूस्टन से इंजीनिय¨रग की एडवांस डिग्री प्राप्त करने के बाद 1975 में उन्होंने अपनी कंपनी की शुरुआत की। अब उनकी गिनती अमेरिका के बड़े कारोबारियों में होती है। वह इंडो-अमेरिकन चैंबर ऑफ कॉमर्स ऑफ ग्रेटर ह्यूस्टन के संस्थापक और वर्तमान अध्यक्ष भी हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप