वाशिंगटन, आइएएनएस। संसद के विरोध के बावजूद अमेरिकी कोषागार विभाग ने रुसल समेत तीन रूसी कंपनियों से प्रतिबंध हटा लिया है। रुसल दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक कंपनी है। इन कंपनियों का स्वामित्व रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के करीबी सहयोगी ओलेग डेरिपास्का के पास है।

अमेरिकी न्यूज चैनल सीएनएन के अनुसार, कोषागार विभाग ने अमेरिकी संसद को इन कंपनियों से प्रतिबंध हटाने की अपनी मंशा के बारे में 19 दिसंबर को सूचित कर दिया था। इसमें कहा गया था कि इन कंपनियों पर प्रतिबंध इनके कृत्य के चलते नहीं बल्कि इनका स्वामित्व रूसी कारोबारी डेरिपास्का के पास होने के कारण लगाया गया था।

रिपब्लिकन सांसदों ने की आलोचना

कोषागार विभाग ने रविवार को कहा, 'रुसल, ईएनप्लस ग्रुप और ईएसई का पुनर्गठन किया गया है। इनमें डेरिपास्का की हिस्सेदारी कम करने के लिए कई बदलाव किए गए हैं। कंपनियों ने निष्पक्षता का वादा किया है। डेरिपास्का पर सभी प्रतिबंध जारी रहेंगे।' विपक्षी डेमोक्रेट्स समेत कई रिपब्लिकन सांसदों ने रूसी कंपनियों से प्रतिबंध हटाने की तीखी आलोचना की है। डेमोक्रेट सांसद लॉयड डगेट ने कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का प्रशासन हफ्ते के सातों दिन रूस के पक्ष में काम करता है।'

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस