ह्यूस्टन, प्रेट्र। अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में दिवंगत सिख पुलिस अफसर संदीप सिंह धालीवाल (Sandeep Singh Dhaliwal) की अंतिम यात्रा में बुधवार को हजारों लोग शामिल हुए। इनमें कई पुलिस अधिकारी और भारतीय मूल के नागरिकों के अलावा बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी शामिल थे।

टेक्सास प्रांत की हैरिस काउंटी के पहले सिख डिप्टी शेरिफ धालीवाल (42) की पिछले हफ्ते ड्यूटी के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। धालीवाल टेक्सास प्रांत के पहले पुलिस अधिकारी थे जिन्हें ड्यूटी के दौरान पगड़ी पहनने और दाढ़ी रखने की छूट दी गई थी।

धालीवाल की बहादुरी की हुई प्रशंसा 

अंतिम संस्कार के दौरान टेक्सास प्रांत के गवर्नर डैन पैट्रिक, सीनेटर टेड क्रुज, ह्यूस्टन के मेयर सिलवेस्टर टर्नर और हैरिस काउंटी के शेरिफ एड गोंजालेज समेत अन्य गणमान्य लोगों ने धालीवाल की बहादुरी की प्रशंसा की। सीनेटर क्रुज ने धालीवाल के बच्चों से मुखातिब होते हुए कहा कि अमेरिका उनके पिता की शहादत के प्रति कृतज्ञ रहेगा। इससे पहले धालीवाल को राजकीय सम्मान के तहत 21 बंदूकों की सलामी दी गई।

ड्यूटी पर तैनात थे धालीवाल

शहीद संदीप धालीवाल हैरिस काउंटी शेरिफ कार्यालय में 10 साल से तैनात थे, उनके तीन बच्चें हैं। बता दें कि जिस वक्त उन्हें गोली मारी गई थी वो ड्यूटी पर ही तौनात थे। धालीवाल वापस अपनी कार की ओर जा रहे थे कि तभी संदीप सिंह धालीवाल को पीछे से गोली मार दी गई। 

धालीवाल की कुर्बानी को किया जाएगा याद

गौरतलब है कि दो अक्टूबर यानी गांधी जंयती के दौरान ह्यूस्टन सिटी काउंसिल (Houston City Council) ने यह दिन संदीप सिंह धालीवाल को समर्पित करने का एलान किया। अब प्रत्येक साल दो अक्तूबर को संदीप सिंह धालीवाल को याद किया जाएगा। दो अक्टूबर के दिन अमेरिका के ह्यूस्टन शहर में धालीवाल की कुर्बानी को याद किया जाएगा।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप