Move to Jagran APP

'रूस युद्ध में हो रहा विफल...', राष्ट्रपति बाइडन ने खुलकर किया यूक्रेन का समर्थन; नाटो देश को दिया ये आदेश

राष्ट्रपति बाइडन ने मंगलवार को यूक्रेन के लिए वायु-रक्षा उपकरणों के ऐतिहासिक मदद की घोषणा की और कहा कि रूस इस युद्ध में विफल हो रहा है। नाटो की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन में सदस्य देशों के नेताओं का स्वागत करते हुए बाइडन ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका जर्मनी नीदरलैंड रोमानिया और इटली यूक्रेन को पांच अतिरिक्त सामरिक वायु-रक्षा प्रणालियों के लिए उपकरण प्रदान करेंगे।

By Agency Edited By: Babli Kumari Wed, 10 Jul 2024 11:45 PM (IST)
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ( फाइल फोटो )

पीटीआई, वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने नाटो शिखर सम्मेलन में सदस्य देशों के नेताओं का स्वागत करते हुए यूक्रेन के लिए बड़ी घोषणा की। उन्होंने यूक्रेन को वायु सुरक्षा उपकरण दान में देने का एलान करते हुए नाटो देशों से कहा कि कोई गलती न करें, रूस इस युद्ध में विफल हो रहा है। अपने प्रभावशाली संबोधन में बाइडन ने कहा कि यूक्रेन पुतिन को रोकने में सफल होगा।

नार्थ अटलांटिक ट्रीटी आर्गनाइजेशन (नाटो) का शिखर सम्मेलन वाशिंगटन डीसी में मंगलवार को शुरू हो गया। नाटो स्थापना की 75वीं वर्षगांठ पर बाइडन ने कहा कि अमेरिका, जर्मनी, नीदरलैंड, रोमानिया और इटली यूक्रेन को पांच अतिरिक्त सामरिक वायु सुरक्षा प्रणाली उपलब्ध कराएंगे। आने वाले महीनों में अमेरिका और उसके साझेदार यूक्रेन को दर्जनों अतिरिक्त सामरिक वायु-रक्षा प्रणालियां प्रदान करेंगे।

यूक्रेन पुतिन को रोकने में सफल होगा- राष्ट्रपति बाइडन

उन्होंने कहा, अमेरिका यह सुनिश्चित करेगा कि जब हम महत्वपूर्ण वायु-रक्षा इंटरसेप्टर निर्यात करें तो यूक्रेन युद्ध में एकदम आगे निकल जाए। कहा, रूस ने जब आक्रमण किया था तो कहा था कि कीव को दो दिन में जीत लेंगे, लेकिन दो वर्ष से अधिक समय हो गया। इस दौरान रूस के साढ़े तीन लाख से अधिक सैनिक या तो मारे गए है या घायल हुए हैं। इतना ही नहीं लगभग 10 लाख रूसी सुरक्षित भविष्य के लिए देश छोड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि यूक्रेन रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को रोकने में सफल होगा।

रूस को विफल करने के लिए न करें नवंबर तक इंतजार

जेलेंस्की यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की का कहना है कि दुनिया को उनके देश के खिलाफ रूस के आक्रामक हमले को रोकने के लिए नवंबर का इंतजार नहीं करना चाहिए। जेलेंस्की ने यह टिप्पणी शिखर सम्मेलन में भाग लेने के दौरान की। उन्होंने कहा कि नवंबर में होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप जीते तो कह नहीं सकते कि यूक्रेन के प्रति उनका रुख क्या होगा।

यह भी पढ़ें- ड्रैगन का दुस्साहस! अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा चीन, अरुणाचल प्रदेश पर किया फिर से खोखला दावा; भारत को अब दी ये धमकी