बेरूत, एपी। रूस और तुर्की ने पूर्वोत्तर सीरिया पर साझा नियंत्रण के लिए समझौता कर लिया है। इसके लिए कुर्द लड़ाकों को पूरी सीरिया-तुर्की सीमा से हटना होगा। समझौते में तुर्की को उन इलाकों पर नियंत्रण बनाए रखने का अधिकार दिया गया है जिस पर उसने इस महीने की शुरुआत में सीरिया पर आक्रामण के दौरान नियंत्रण हासिल किया है। शेष सीमा पर रूसी और सीरियाई सेना का नियंत्रण होगा।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन ने सीमावर्ती इलाकों में संयुक्त गश्त पर भी सहमति व्यक्त की। समझौते में कुर्द लड़ाकों को तुर्की-सीरिया की 440 किमी लंबी सीमा से लगे बाकी इलाकों से हटने के लिए 150 घंटों का समय दिया गया है।

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन ने बताया कि तुर्की-रूस समझौते के तहत सीरियाई कुर्द लड़ाके 150 घंटों के भीतर पूर्वोत्तर सीरिया के सीमावर्ती इलाकों से 30 किमी दूर चले जाएंगे। यह समयसीमा बुधवार दोपहर से शुरू होगी। इससे पहले मंगलवार को कुर्द बलों ने बताया कि अमेरिका की मध्यस्थता में हुए संघर्ष विराम समझौते के तहत दी गई समयसीमा के भीतर वे सीरियाई सीमावर्ती इलाकों से हट गए हैं।

इस बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा है कि इस्‍लामिक स्‍टेट से लड़ने के लिए 200 अमेरिकी सैनिक उत्‍तर सीरिया में तैनात रहेंगे। एक वरिष्‍ठ अमेरिकी अधिकारी के हवाले दी जारी खबर में कहा गया है कि अमेरिका कुर्द बलों को तेल पर नियंत्रण कायम रखने के लिए 200 अमेरिकी सैनिकों को उत्‍तर सीरिया में छोड़ने का विचार कर रहा है।

तुर्की ने संघर्ष विराम समझौते का पालन किया तो हटा लेंगे प्रतिबंध : अमेरिका

अमेरिका ने कहा है कि वह तुर्की पर हाल में लगाए गए प्रतिबंधों को हटा लेगा अगर उसने संघर्ष विराम समझौते का पालन किया। एक अमेरिका अधिकारी ने यह जानकारी दी। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि यह प्रतिबंध कब हटाए जाएंगे।  

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप