वाशिंगटन, प्रेट्र। चार शीर्ष रिपब्लिकन सीनेटरों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से 60 दिनों के लिए सभी नए गेस्ट वर्कर वीजा और एच-1 बी सहित अतिथि वीजा की कुछ श्रेणियों को एक साल या जब तक रोजगार की स्थिति सामान्य नहीं हो जाती, तब तक के लिए निलंबित करने का आग्रह किया है।

ट्रंप को लिखे पत्र में सीनेटरों ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने श्रम बाजार को तबाह कर दिया है। पांच में से एक अमेरिकी श्रमिक ने मध्य-मार्च के बाद से, जब लॉकडाउन उपायों ने दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाना शुरू किया, पहली बार बेरोजगारी लाभ के लिए आवेदन दिया है।

श्रम विभाग ने गुरुवार को कहा कि 3.2 मिलियन (32 लाख) अमेरिकियों ने पिछले सप्ताह शुरुआती बेरोजगारी का दावा किया। सात मई को राष्ट्रपति ट्रंप को लिखे पत्र पर सीनेटर टेड क्रूज, टॉम कॉटन, चक ग्रासली और जोश हावले ने हस्ताक्षर किया है। पत्र में कहा गया है कि अमेरिकी कार्यबल का पांचवां हिस्सा वर्तमान में बेरोजगार है।

कोरोना महामारी से अमेरिका में हुईं सबसे ज्यादा मौतें

बता दें कि कोरोना संक्रमण ने अमेरिका में भारी नुकसान पहुंचाया है। अमेरिका में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें हुईं हैं। अमेरिका में लॉकडाउन खोलने के दबाव के बीच कोरोना संक्रमितों की मौत का सिलसिला नहीं थम रहा है। देश में 24 घंटे में 2448 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही अमेरिका में मरने वाालों की संख्‍या 75 हजार के पार हो गई है। कोरोना में संक्रमितों का आंकड़ा 1,292,850 के पार जा चुका है। राहत देने वाली खबर यह है कि 217,251 कोरोना मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं।

वहीं, दूसरी ओर कोरोना महामारी को लेकर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा कि कोरोना का वैश्विक प्रसार में चीनियों ने भयानक गलती की है। उन्‍होंने आगे कहा कि या तो चीन इसको संभाल पाने में अक्षम था। ट्रंप के इस बयान यह साफ हो जाता है कि वह कोरोना के वैश्विक प्रसार में चीन को जिम्‍मेदार मान रहे हैं।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस