वेटिकन सिटी, रायटर। पोप फ्रांसिस ने विश्व भर के ईसाइयों से अफगानिस्तान में शांति और सह अस्तित्व के लिए ईश्वर से प्रार्थना करने को कहा है। इसके लिए उन्होंने व्रत करने की भी सलाह दी है। सेंट पीटर्स स्क्वायर पर साप्ताहिक आर्शीवाद के लिए आए श्रद्धालुओं और पर्यटकों को संबोधित करते हुए पोप ने कहा कि वह अफगानिस्तान के घटनाक्रमों को बहुत चिंतित होकर देख रहे हैं। वह काबुल एयरपोर्ट पर हुए बम विस्फोट में मारे गए लोगों के लिए शोकाकुल हैं।

उन्होंने कहा कि वह उन लोगों के करीब हैं जो मदद और सुरक्षा चाहते हैं। अप्रत्यक्ष रूप से उनकी यह सलाह उन लोगों के लिए थी जो अफगानिस्तान छोड़कर जाना चाहते हैं। वह चाहते हैं कि इस देश के लिए उम्मीद बनी रहे। उन्होंने कहा कि वह सबसे अपेक्षा करते हैं कि वह जरूरतमंदों की मदद करें और उनकी सकुशलता के लिए प्रार्थना करें। ताकि अफगानिस्तान के भविष्य के लिए शांतिपूर्ण और भाईचारे का माहौल बने।

पोप ने कहा, 'एक ईसाई होने के नाते यह हालात हमें कुछ करने के लिए प्रतिबद्ध करते हैं। और इसीलिए मैं सभी से अपील कर रहा हूं कि अपनी प्रार्थनाओं को और गहन कर दें। साथ ही उपवास और प्रार्थना जारी रखें। यह करने का समय आ गया है।'