संयुक्त राष्ट्र (प्रेट्र)। पाकिस्तान ने कश्मीर मसले को फलस्तीन समस्या के साथ जोड़कर एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के मंच पर उठाया। कहा कि दुनिया कश्मीर के भयंकर हालात को देख रही है लेकिन कुछ बोल नहीं रही। पाकिस्तान ने लगातार दूसरे साल कश्मीर मसले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उठाने की कोशिश की है लेकिन इस बार भी कोई अन्य देश उसके समर्थन में सामने नहीं आया।

सुरक्षा परिषद की खुली बहस के दौरान संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने कहा कि बदल रही दुनिया में शांति और सुरक्षा को लेकर नई तरह की चुनौतियां खड़ी हो रही हैं। फलस्तीन और कश्मीर में जघन्य तरीके से मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। यह उल्लंघन वहां कब्जा जमाए सुरक्षा बल कर रहे हैं। इन भयानक स्थितियों को देखते हुए भी दुनिया उस पर कुछ बोल नहीं रही। इससे दुनिया की शांति और सुरक्षा को खतरा बढ़ रहा है। इसी के चलते अफगानिस्तान से लेकर अफ्रीका तक टकराव छिड़ा हुआ है। सीरिया, लीबिया और यमन में हालात खराब हैं। स्थितियां उलझती चली जा रही हैं। बड़े पैमाने पर विस्थापन हो रहा है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यरुशलम पर लिए फैसले का उल्लेख करते हुए मलीहा लोधी ने कहा, इससे समूचे मध्य-पूर्व में हलचल मची हुई है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव कोरियाई प्रायद्वीप के हालात को लेकर चेतावनी दे चुके हैं। ये सारी स्थितियां दुनिया के सामने शांति और स्थिरता को लेकर चुनौतियां बढ़ा रही हैं।

यह भी पढ़ें : म्यांमार के हिंसाग्रस्त इलाके रखाइन के कब्र में दस शव पाए गए: सेना

Posted By: Srishti Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप