वाशिंगटन, प्रेट्र/आइएएनएस। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक अपील कोर्ट में खाली हुए जज के पद पर नियुक्ति के लिए भारतीय मूल की नियोमी राव को नामित किया है। यह पद अपील कोर्ट के जज ब्रेट कैवनॉघ की सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति के बाद खाली हुआ है।

ह्वाइट हाउस में मंगलवार को मनाए गए दिवाली समारोह के दौरान ट्रंप ने 45 वर्षीय राव को वाशिंगटन डीसी के सर्किट कोर्ट के जज के तौर पर नामित करने का एलान किया। अमेरिका में सुप्रीम कोर्ट के बाद इस अदालत को सबसे शक्तिशाली माना जाता है। राव के नाम पर सीनेट की मुहर लगने पर वह इस प्रभावशाली कोर्ट में नियुक्ति पाने वाली दूसरी भारतवंशी बन जाएंगी। इससे पहले इस कोर्ट में श्रीनिवासन को ओबामा प्रशासन के दौरान नियुक्त किया गया था।

राव को नामित करने का एलान करते हुए ट्रंप ने कहा, 'वह असाधारण बनने जा रही हैं।' इस पर राव ने राष्ट्रपति का आभार व्यक्त किया। राव इस समय सूचना और नियामक मामलों के कार्यालय की प्रशासक हैं। इस पद पर उनकी नियुक्ति पर जुलाई, 2017 में सीनेट ने 41 के मुकाबले 54 मतों से मुहर लगाई थी। वह सुप्रीम कोर्ट के जज क्लेरेंस थॉमस की क्लर्क भी रह चुकी हैं।

पारसी माता-पिता की हैं संतान
भारत के पारसी चिकित्सक माता-पिता जेरिन राव और जहांगीर राव की संतान नियोमी मिशिगन में पली-बढ़ी हैं। उन्होंने येल यूनिवर्सिटी से स्नातक और यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो लॉ स्कूल से कानून की पढ़ाई की थी।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप