न्यूयॉर्क, आइएएनएस। अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने एलान किया है कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने की जांच को अधिकृत करने के लिए मतदान नहीं कराएंगी। उन्होंने विपक्षी डेमोक्रेटिक सांसदों के साथ इस मसले पर चर्चा के बाद यह घोषणा की। इस सदन में डेमोक्रेटिक पार्टी बहुमत में है।

सीएनबीसी न्यूज के अनुसार, ह्वाइट हाउस और रिपब्लिकन सांसदों के बढ़ते दबाव के बीच पेलोसी ने यह निर्णय लिया है। ह्वाइट हाउस और ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों का कहना है कि महाभियोग चलाने के लिए चल रही जांच अवैध है क्योंकि जांच शुरू करने के मसले पर सदन में औपचारिक तौर पर मतदान नहीं कराया गया। एक अमेरिकी व्हिसिल ब्लोअर की शिकायत पर स्पीकर पेलोसी ने पिछले माह ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने के लिए जांच शुरू करने का एलान किया था। इसी के तहत प्रतिनिधि सभा की कई समितियां मामले की जांच कर रही हैं।

व्हिसिल ब्लोअर ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि ट्रंप ने गत 25 जुलाई को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की से फोन पर बात की थी। इसमें उन्होंने अगले साल नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में अपने संभावित डेमोक्रेट प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन को बदनाम करने के लिए जेलेंस्की पर दबाव बनाया था। ट्रंप ने हालांकि इस आरोप से इन्कार किया है।

बता दें कि महाभियोग एक ऐसा प्रावधान है जो अमेरिकी संसद को अमेरिकी राष्ट्रपति को हटाने की इजाजत देता है। अमेरिकी संविधान में उल्‍लेख है कि प्रतिनिधि सभा यानी निचले सदन में बहुमत के बाद महाभियोग चलाने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति के खिलाफ महाभियोग तब लाया जाता है जब उसके खिलाफ देशद्रोह, घूस या फिर किसी बड़े अपराध में शामिल होने का शक है।

फ‍िलहाल, प्रतिनिधि सभा में अभी डेमोक्रेटिक पार्टी के 235 सदस्य हैं जबकि रिपब्लिकन पार्टी के सदस्‍यों की संख्‍या 199 है और एक निर्दलीय सदस्‍य भी है। ऐसे में डेमोक्रेटिक पार्टी की स्थिति मजबूत है और वह अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप पर हमला कर सकती है। वहीं सीनेट में रिपब्लिकन 53 और डेमोक्रेटिक के 45 सदस्य हैं। इनके अलावा दो निर्दलीय सदस्‍य भी हैं, जो आमतौर पर डेमोक्रेटिक पार्टी का साथ देते हैं।

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप