वाशिंगटन, एपी। कोविड-19 की दूसरी लहर के लिए अमेरिका सेना तैयार है। रक्षा मंत्री मार्क एस्पर (Mark Esper) ने कहा कि सेना इस बार अधिक सहयोग देने की योजना बना रही है। .उन्होंने कहा कि सेना ने कोविड-19 से स्वस्थ हुए लोगों का एंटीबॉडी टेस्ट करना पहले ही शुरू कर दिया है ताकि यह पता चल सके कि वायरस को रोकने या इसके इलाज के लिए इन लोगों के प्लाजमा का उपयोग किया जा सके। नॉवेल कोरोना वायरस के कारण महामारी की दूसरी लहर के दोबारा आने की संभावना है। अमेरिका की मिलिट्री कोरोना वायरस की दूसरी लहर से सामना करने के लिए तैयार है।

हाल में ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि यदि महामारी की दूसरी लहर आने पर देश बंद नहीं किया जाएगा। राष्ट्रपति ने कहा कि स्थायी लॉकडाउन स्वस्थ राज्य या स्वस्थ देश की रणनीति नहीं है।

अमेरिका के सभी 50 राज्यों ने अपनी अर्थव्यवस्थाओं को गति देने के उद्देश्य से कोरोना वायरस प्रतिबंधों में ढील देने की योजना बनाने की शुरुआत कर दी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सर्दी के मौसम में वायरस की दूसरी लहर आने की संभावना को लेकर चेतावनी दी है

अमेरिका में अब तक इस घातक वायरस के कारण मरने वालों की संख्या एक लाख के  पार चली गई। दुनिया में किसी भी देश में कोविड-19 के कारण इतनी ज्यादा मौत अभी नहीं हुई है। इसमें सबसे अधिक मरने वाले न्यूयार्क के हैं। यहां से सटे इलाके न्यूजर्सी और कनेक्टिकट में महामारी ने  लोगों की जान ले ली। इसके कारण अमेरिकी अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई। अप्रैल में यहां बेरोजगारी का संकट भी शुरू हो गया। इस क्रम में 3.5 करोड़ से अधिक लोगों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। हालांकि मृत्यु दर और नए मामलों की संख्या में अब कमी आने लगी है। इसे देखते हुए सभी 50 राज्यों ने अर्थव्यवस्थाओं को फिर से खोलने की हिम्मत जुटाई है। 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस