वॉशिंगटन, एएनआइ। संयुक्त राज्य अमेरिका ने चीन के खिलाफ सख्त कार्रवाई की धमकी दी। द साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार, चीन ने अमेरिकी अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगा दिया था। चीन का कहना था कि अमेरिकी अधिकारियों द्वारा हांगकांग के मुद्दे पर 'बहुत बुरा व्यवहार किया गया है।' हालांकि, अब चीन के इस फैसले ने अमेरिका को आग बबूला कर दिया है।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने एक ट्वीट में कहा, 'अमेरिकी नागरिकों के लिए वीजा को प्रतिबंधित करने की चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की धमकी, बीजिंग के लोगों द्वारा हांगकांग के लोगों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को तोड़ने की जिम्मेदारी स्वीकार करने का नवीनतम उदाहरण है। हमें प्रतिक्रिया देने के लिए कार्रवाई करने से नहीं रोका जा सकेगा।'

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन द्वारा प्रतिबंधों की घोषणा करने के कुछ घंटों बाद पोम्पिओ की प्रतिक्रिया आई। चीन की तरफ से कहा गया था कि बीजिंग द्वारा हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाने में बाधा डालने के अमेरिका के किसी भी प्रयास को सफलता नहीं मिलेगी।

झाओ ने कहा, 'अमेरिका की गलत हरकतों के मद्देनजर, चीन ने अमेरिकी व्यक्तियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है, जो हांगकांग से संबंधित मुद्दों पर व्यवहार करते हैं।' झाओ ने बिना नाम लिए लक्षित किया। इस बीच, चीन ने मंगलवार को हांगकांग के लिए विवादास्पद राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पारित किया।

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट (एससीएमपी) के अनुसार, नेशनल पीपुल्स कांग्रेस स्टैंडिंग कमेटी द्वारा अनुमोदित कानून में 10 साल की सीमा के पहले के संकेतों के विपरीत, जेल में अधिकतम उम्रकैद की सजा का प्रावधान है।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस