वाशिंगटन, एपी। सप्ताह भर से आंशिक रूप से ठप पड़े सरकारी कामकाज को फिर से पटरी पर लाने के लिए हो रही बातचीत में गतिरोध बरकरार है। समाधान तलाशने की जगह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लगातार डेमोक्रेट को निशाना बनाते हुए ट्वीट कर रहे हैं।

ट्रंप क्रिसमस के दौरान फ्लोरिडा के क्लब में छुट्टियां मनाने की जगह व्हाइट हाउस में फंसे हैं। संघीय सेवाओं और सरकारी कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलने की समस्या नए साल में भी जारी रहने की आशंका है। वहीं दोनों दलों के बीच जारी आरोप-प्रत्यारोप के दौरान इस समस्या का कोई ठोस समाधान निकलता नहीं दिख रहा है।

ट्रंप ने संघीय धन राशि में से अरबों डॉलर अमेरिका-मेक्सिको के बीच दीवार बनाने के लिए मांगी है। विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी का कहना है कि वह इस धन का इस्तेमाल दीवार बनाने के लिए नहीं करने देंगे।

ट्रंप ने शनिवार को ट्वीट किया कि वह 'व्हाइट हाउस में डेमोक्रेट का इंतजार कर रहे हैं कि वह आएं और सीमा सुरक्षा पर समझौता करें।' लेकिन दोनों दलों के बीच सीधी बातचीत बहुत कम ही हुई है। यहां तक कि ट्रंप ने बहुमत वाली अपनी रिपब्लिकन पार्टी से भी और एक सप्ताह तक अमेरिकी कांग्रेस में कामकाज जारी रखने को नहीं कहा।

दीवार पर बातचीत के लिए डेमोक्रेट सांसदों को न्योता देते हुए ट्रंप ने सीमा गश्ती दल की हिरासत में दो बच्चों की मौत को लेकर प्रशासन की आलोचना को भी खारिज कर दिया।

ट्रंप का दावा है कि यह मौतें 'पूरी तरह से डेमोक्रेट और उनकी खराब आव्रजन नीति का नतीजा है। नीति ने लोगों को लंबी दूरी तय करने और यह सोचने पर मजबूर किया कि वह अवैध तरीके से हमारे देश में प्रवेश कर सकते हैं।'

इराक में तैनात अमेरिकी सैनिकों से मिलकर गुरुवार को लौटने के बाद से ही ट्रंप सार्वजनिक तौर पर नहीं दिखे हैं। वह सिर्फ ट्विटर के जरिये डेमोक्रेट पर निशाना साध रहे हैं।

प्रतिनिधि सभा और सीनेट में बहुमत रहते हुए दीवार बनाने के लिए धन राशि का प्रस्ताव पारित नहीं करा पाने को लेकर हो रही आलोचनाओं का भी ट्रंप ने जवाब दिया।

उन्होंने ट्वीट किया है, 'उन लोगों के लिए जो बेहद अबोध की तरह सवाल कर रहे हैं कि रिपब्लिकन ने पिछले वर्षो में दीवार बनाने की मंजूरी क्यों नहीं ली, ऐसा इसलिए हैं क्योंकि सीनेट में इसके लिए हमें डेमोक्रेट के 10 वोट चाहिए थे। सीमा सुरक्षा के लिए वह हमें एक भी वोट नहीं दे रहे हैं।' उन्होंने लिखा है कि हमें अब अंगुली टेढ़ी करनी पड़ रही है, कामकाज ठप करना पड़ रहा है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप