वाशिंगटन, एपी। सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड में अमेरिका के सांसद ट्रंप प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों से पूछताछ करने जा रहे हैं। पिछले दरवाजे से होने वाली इस पूछताछ में अधिकारियों से मिलने वाले जवाब से यह तय हो सकता है कि अमेरिकी संसद देश के करीबी सहयोगी सऊदी अरब को किस तरह दंडित कर सकती है। अमेरिका निवासी खशोगी की गत दो अक्टूबर को तुर्की के इस्तांबुल शहर स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में हत्या कर दी गई थी। खशोगी अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार थे।

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए की हालिया रिपोर्ट से यह जाहिर हुआ था कि सऊदी के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने ही हत्या का आदेश दिया था। खशोगी क्राउन प्रिंस के मुखर आलोचक थे। इस मामले में अभी तक अमेरिका की जिस तरह की प्रतिक्रिया रही, उसे लेकर अमेरिका के कई सांसद नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। उन्होंने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से सऊदी पर प्रतिबंध लगाने तक की मांग की थी।

ट्रंप ने हालांकि इस मांग को अनसुना करते हुए सऊदी का समर्थन किया था। अमेरिकी संसद के ऊपरी सदन सीनेट में बहुमत के नेता मिच मैककोनेल ने मंगलवार को कहा कि इस जघन्य हत्याकांड में सऊदी की भूमिका को लेकर अधिकारियों की कुछ प्रतिक्रिया की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'हम यह चर्चा कर रहे हैं कि किस तरह की प्रतिक्रिया उचित होगी।' हालांकि यह सब कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि सांसदों को रक्षा मंत्री जिम मैटिस और विदेश मंत्री माइक पोंपियो से किस तरह की प्रतिक्रिया मिलती है।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप