वाशिंगटन, एएफपी। अंतरराष्ट्रीय आर्थिक विकास की दर इस साल अनुमान से कम रह सकती है। हालांकि साल के आखिर में इसके संभलने के आसार हैं। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) की प्रमुख ने मंगलवार को इसके साथ ही कहा कि साल के आखिर तक अर्थव्यवस्था के संभलने को लेकर भी पूरी तरह आश्वस्त नहीं हुआ जा सकता है।

अगले सप्ताह वाशिंगटन में विश्व बैंक के साथ होने वाली बैठक से पहले आइएमएफ की प्रमुख क्रिस्टीन लगार्डे ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को ब्रेक्जिट का झटका लगने का खतरा है। इसके साथ ही कर्ज के ऊंचे स्तर, अंतरराष्ट्रीय व्यापारिक तनाव और वित्तीय बाजारों की बेचैनी से भी अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स को अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि इस साल अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में तेजी की वापसी की उम्मीद अनिश्चित है। यह काफी नाजुक क्षण है और हमें काफी सावधानी दिखाना है। उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह आइएमएफ अंतरराष्ट्रीय आर्थिक विकास के अपने जनवरी के अनुमान को और घटाने वाला है। दुनिया की दो-तिहाई से अधिक अर्थव्यवस्था में आर्थिक सुस्ती आ सकती है।

एशिया, यूरोप और अमेरिका आर्थिक सुस्ती की आशंका और अमेरिका व चीन के बीच लंबा खिंच रही व्यापार वार्ता के कारण वित्तीय बाजारों में कई बार अफरातफरी की स्थिति देखने का मिली है। आइएमएफ ने जनवरी में भी अंतरराष्ट्रीय आर्थिक विकास के इस साल और अगले साल के पहले जताए अनुमान को घटाकर 3.5 फीसद कर दिया था।

उधर, एक अन्य घटनाक्रम में जेनेवा में विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने मंगलवार को इस साल अंतरराष्ट्रीय व्यापार में वृद्धि के अपने अनुमान को घटाकर 2.6 फीसद कर दिया, जिसे पहले उसने 3.7 फीसद पर रखा था।

 

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप