वाशिंगटन, पीटीआइ। अमेरिका में भारतवंशियों के घरों में लूटपाट करने वाले गिरोह की महिला सरगना को मिशिगन की अदालत ने दोषी करार दिया है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट में पेश साक्ष्यों के अनुसार, ह्यूस्टन में रहने वाली 44 साल की चाका कास्त्रो के गिरोह ने 2011 से 2014 के बीच अमेरिका के विभिन्न प्रांतों में खास तौर पर भारतवंशियों के घरों में लूटपाट की कई वारदात को अंजाम दिया। इस गिरोह के निशाने पर भारतीयों के अलावा एशियाई मूल के नागरिक भी थे।

चाका की अगुआई में गिरोह के सदस्य हथियारों के साथ घर पर धावा बोलते थे और लूट की वारदात को अंजाम देते थे। सबसे पहले ये लोग घरों की रेकी करते थे। फिर मौका मिलते ही घर में घुसकर सदस्यों को हथियारों का डर दिखाकर बांधकर कमरे में बंद कर देते थे। गिरोह के सदस्य अपने चेहरे ढके रहते थे, जिसकी वजह से वे पहचान में नहीं आ पाते थे। चाका की सजा का एलान सितंबर में किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस