वाशिंगटन, पीटीआइ। अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद जेरेड कुश्नर के अति गोपनीय स्थलों में जाने पर रोक लगा दी गई है। ऐसा कुछ गोपनीय सूचनाओं के लीक (सार्वजनिक) होने के बाद किया गया है। यह फैसला व्हाइट हाउस के मुख्य कार्यकारी जॉन केली ने लिया है।

37 वर्षीय कुशनर ट्रंप की बेटी इवांका के पति हैं और वह राष्ट्रपति के वरिष्ठ सलाहकार भी हैं। व्हाइट हाउस प्रशासन ने ताजा फैसले से पूर्व कुश्नर की पृष्ठभूमि की भी जांच कराई। इसके बाद गोपनीय स्थलों पर जाने और गोपनीय सूचनाएं उपलब्ध कराने के लिहाज से उनके स्तर को नीचे किया गया। इस बाबत आदेश बीते शुक्रवार को जारी किया गया। इससे पहले कुश्नर को हर स्तर की गोपनीय जानकारी उपलब्ध कराई जा रही थीं। उनकी अमेरिका के सबसे ज्यादा गोपनीय दस्तावेजों और कार्यकलापों तक पहुंच बनी हुई थी। नई व्यवस्था में राष्ट्रपति ट्रंप अगर उचित समझेंगे तो अति गोपनीय सूचनाओं को अपने दामाद और वरिष्ठ सलाहकार कुश्नर से साझा करेंगे।

उल्लेखनीय है कि कुश्नर और उनकी पत्नी इवांका राष्ट्रपति के आवास व कार्यालय व्हाइट हाउस में खास दर्जे के साथ रह रहे हैं। वे परिवार के सदस्य के साथ ही राष्ट्रपति के सहायक का सरकारी ओहदा भी संभाल रहे हैं। हाल ही में कुश्नर के विदेशी अधिकारियों और कारोबारी रिश्तों को लेकर भी सवाल उठे थे।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा है कि प्रशासनिक फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं। हां, जेरेड कुश्नर की खासियतों पर बात कर सकते हैं जिनके चलते वह व्हाइट हाउस में काम कर रहे हैं। वह प्रशासन के महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं। कुश्नर के अधिवक्ता एबी लॉवेल के अनुसार उनके मुवक्किल से जो अपेक्षाएं की गई थीं, उन्होंने इससे पढ़कर काम किया है। यहूदी मूल के कुश्नर फिलहाल मध्य-पूर्व शांति वार्ता में अमेरिकी भूमिका पर नजर रख रहे हैं।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस