वाशिंगटन, पीटीआई। वैज्ञानिकों का कहना है कि दुग्ध उत्पादों मसलन फैट से भरपूर दूध, चीज और मक्खन के सेवन से हृदय रोग या स्ट्रोक का खतरा नहीं बढ़ता। डेयरी फैट का इन रोगों और असमय मौत के बीच संबंध नहीं पाया गया है।

शोधकर्ताओं के अनुसार, वास्तव में कुछ खास प्रकार के डेयरी फैट (वसा) स्ट्रोक के खिलाफ बचाव में मदद कर सकते हैं। अमेरिका की टेक्सास यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर मर्सिया ओट्टो ने कहा, 'हमारे अध्ययन का निष्कर्ष न सिर्फ उस धारणा के उलट है बल्कि इस बात का भी समर्थन करता है कि डेयरी फैट से बुजुर्गो में हृदय रोग या मौत का खतरा नहीं बढ़ता। दुग्ध उत्पादों में मौजूद एक फैटी एसिड हृदय रोग खासतौर पर स्ट्रोक से मौत के खतरे को निम्न कर सकता है।'

शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष 65 साल के करीब तीन हजार वयस्कों पर 22 साल तक किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला है। अध्ययन में डेयरी उत्पादों में पाए जाने वाले तीन फैटी एसिड के प्लाज्मा लेवल पर गौर किया गया। इनमें से किसी भी फैटी एसिड का संबंध इन खतरों से नहीं पाया गया।

Posted By: Bhupendra Singh