वाशिंगटन, आइएएनएस। डेमोक्रेटिक पार्टी में राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनने की दौड़ में शामिल बर्नी सैंडर्स ने अमेरिकी चुनाव में रूसी हस्तक्षेप की कोशिश की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि रूस अमेरिकी चुनाव प्रक्रिया से दूर रहे। कहा, रूस अमेरिका के लोकतंत्र को कमजोर मानकर चल रहा है। वह अमेरिकी लोगों को बांटना चाहता है। राष्ट्रपति ट्रंप की सोच से अलग वह (बर्नी) ऐसे किसी प्रयास के खिलाफ हैं। अमेरिकी चुनाव में विदेशी हस्तक्षेप के प्रयास का विरोध करते हैं।

बर्नी की यह प्रतिक्रिया अमेरिकी एजेंसियों की इस रिपोर्ट के बाद आई है कि रूस 2020 के चुनाव में हस्तक्षेप का प्रयास कर रहा है। बर्नी वरमॉन्ट से सांसद हैं और वह कैलीफोर्निया के बेकर्सफील्ड में बोल रहे थे। उन्होंने 2016 में भी डेमोक्रेटिक पार्टी का प्रत्याशी बनने का प्रयास किया था लेकिन बाद में हिलेरी क्लिंटन से मुकाबले में पिछड़ गए थे। 2016 के चुनाव में रूसी हस्तक्षेप की खबरें सामने आई थीं लेकिन जांच में अमेरिकी एजेंसियां अंतिम निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकीं। उस चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को जीत हासिल हुई थी। माना गया कि उन्हें रूसी समर्थन हासिल था, हालांकि ट्रंप इसका लगातार खंडन करते रहे हैं।

बीते 13 फरवरी को अमेरिकी खुफिया अधिकारियों ने सांसदों को राष्ट्रपति चुनाव प्रचार में रूस के दखल की जानकारी दी थी। इसके अगले दिन राष्ट्रपति ट्रंप ने राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी के कार्यवाहक निदेशक जोसेफ मेगुइर को फटकार लगाई थी। ट्रंप ने इस बात पर नाराजगी प्रकट की थी कि खुफिया अधिकारियों की ब्रीफिंग में डेमोक्रेट सांसद और संसदीय खुफिया मामलों की समिति के अध्यक्ष एडम शिफ भी मौजूद थे। यहां बता दें कि वह एडम ही थे जिनकी अगुआई में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग कार्यवाही को अंजाम दिया गया।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस