वाशिंगटन, रायटर। अखबार वाल स्ट्रीट जर्नल ने दावा किया है कि बगदाद में अमेरिकी दूतावास के निकट मोर्टार दागे जाने के बाद अमेरिका ने ईरान पर हमले के विकल्पों पर विचार किया था। इस सिलसिले में अमेरिकी राष्ट्रपति के व्हाइट हाउस कार्यालय में कार्यरत राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने रक्षा मंत्रालय पेंटागन से हमले के विकल्पों से संबंधित सूचनाएं मांगी थीं।

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रमुख के तौर पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने मामले पर रक्षा मंत्रालय और विदेश मंत्रालय से गंभीर चिंता जताई थी। मोर्टार दागे जाने का शक इराक में सक्रिय अमेरिका विरोधी ईरानी आतंकियों पर है। बीते सितंबर में हुए इस हमले में तीन शेल अमेरिकी दूतावास कर्मियों के आवास के निकट गिरे थे लेकिन कोई घायल नहीं हुआ था।

बोल्टन के अनुरोध पर रक्षा मंत्रालय ने ईरान पर हमले के किन विकल्पों की जानकारी दी, यह स्पष्ट नहीं हो सका है। विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने इस खबर पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है। जबकि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता इस खबर पर टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया।

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने भी कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है। हां, इतना जरूर कहा कि हम बगदाद में दूतावास के निकट हुए हमले में शामिल लोगों का पता लगा रहे हैं। बसरा स्थित वाणिज्य दूतावास पर भी ऐसा ही हमला हुआ था। दोनो मामलों की जांच जारी है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस