वाशिंगटन, एएनआइ। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि रूस से सुरक्षा की चिंता को देखते हुए पोलैंड में एक हजार अमेरिकी सैनिक और तैनात किए जाएंगे। यूरोपीय देश पोलैंड में फिलहाल 4500 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं।

ट्रंप के इस एलान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए रूस के सांसद व्लादिमीर दहाबरोव ने खुली चेतावनी दी है कि अगर रूस पर हमला हुआ तो जवाबी हमले में पोलैंड को बर्बाद कर दिया जाएगा। दहाबरोव ने मॉस्को में कहा, पोलैंड में सैनिकों की संख्या बढ़ाने के साथ अमेरिका वहां जासूसी ड्रोन भी तैनात करने की योजना बना रहा है। यह हमारे लिए चिंता का विषय है।

ट्रंप ने बुधवार को व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में पोलैंड के राष्ट्रपति एंड्रजेज डूडा के साथ सामरिक सहयोग से जुड़े साझा घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किए। इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस में ट्रंप ने बताया कि पोलैंड, अमेरिका से 32 उन्नत एफ-35 लड़ाकू विमान खरीदेगा। नाटो (उत्तर अटलांटिक संधि संगठन) महासचिव जेंस स्टोलेनबर्ग ने पोलैंड में और सैनिकों की तैनाती का स्वागत किया है।

उन्होंने कहा कि नाटो समझौते के तहत यह उचित निर्णय है। पोलैंड 1999 में नाटो से जुड़ा था। सूत्रों का कहना है कि पोलैंड अपनी जमीन पर अमेरिकी सैनिकों की स्थायी तैनाती चाहता है और इसके लिए वह दो अरब डॉलर (करीब 14 हजार करोड़ रुपये) तक खर्च करने को तैयार है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस