वाशिंगटन, एएनआइ। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए इस समय कोविड-19(COVID-19) वैक्सीन ही सबसे बड़ा हथियार है। अमेरिकी सरकार ने 12 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। लेकिन वैक्सीनेशन के बाद भी कुछ गंभीर लक्षण देखने को मिल रहे हैं। इससे सरकार और लोगों की चिंता बढ़ रही है। फाइजर वैक्‍सीन लेने के बाद अमेरिका में कुछ लोगों को दिल की सूजन की समस्‍या का सामना करना पड़ा है।

आपकों बता दें कि फाइजर वैक्‍सीन को अमेरिकी कंपनी फाइजर इंक और बायोनटेक ने मिल कर बनाया है।

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने एक रिपोर्ट जारी की है जिसमें वैक्सीन के बाद कई युवाओं में दिल में सूजन और जलन की शिकायत देखी जा रही है।

हालांकि, सीडीसी ने यह भी कहा है कि मायोकार्डिटिस और पेरिकार्डिटिस वाले अधिकांश रोगियों को सही उपचार और आराम देने से उनकी स्वास्थ्य में सुधार भी देखा गया है।

रिपोर्ट में सीडीसी ने यह भी माना कि मायोकार्डिटिस और पेरिकार्डिटिस के लक्षण में बुखार, सीने में दर्द, सांस की तकलीफ, दिल का तेज धड़कना, थकान जैसी तकलीफ शामिल हैं। लेकिन ये साफ नहीं हो पाया है कि यह समस्या कितने लोगों को हुई है।

कई देशों में सामने आए कोरोना वैक्‍सीन के साइट इफेक्‍ट्स

जैसे-जैसे वैक्सीनेशन का अभियान तेज हो रहा है, वैसे-वैसे फाइजर वैक्‍सीन समेत सभी वैक्‍सीन के साइड इफेक्ट भी देखने को मिल रहे है। कुछ देशों ने माना की फाइजर वैक्सीन लगने के बाद लोगों की मौत भी हुई है। नार्वे में 100 लोगों को इसके साइड इफेक्ट हुए। तो वहीं फिनलैंड के 32 लोगों में साइड इफेक्‍ट देखा गया।

फाइजर वैक्‍सीन ही नहीं, बल्कि स्वदेशी वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन से भी लोगों को साइड इफेक्ट हुए है। कोविशील्ड टीके के बाद लोगों में सिरदर्द, बुखार, बदन दर्द जैसे मामूली साइड इफेक्ट्स देखने को मिले है। वहीं, कोवैक्सीन से बुखार, पसीना आना या फिर ठंड लगना, सिरदर्द, शरीर दर्द, जुकाम, उल्टी, खुजली और इंजेक्शन की जगह पर सूजन जैसे साइड इफेक्ट्स देखने को मिले हैं। मगर ये सभी लक्ष्ण ममूली बताये गए है।

Edited By: Tilakraj