वाशिंगटन, एजेंसियां। अमेरिका में गुरुवार को 16,000 से अधिक संक्रमण के मामले सामने आने के बाद संक्रमित व्यक्तियों की संख्या पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा 85,600 हो गई है। वहीं स्पेन में बीते चौबीस घंटे में 769 लोगों की मौत हो गई है जबकि इटली में एक ही दिन में लगभग 1,000 लोगों की मौत कोरोना वायरस से हो गई है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक, ईरान में सोशल मीडिया में अफवाह फैली कि मेथेनॉल पीने से कोरोना का संक्रमण नहीं होता है। इसके बाद पूरे ईरान में कई लोगों ने मेथेनॉल पी ली जिससे लगभग 300 लोगों की मौत हो गई है जबकि 1,000 से अधिक बीमार हो गए हैं। जानें पूरी दुनिया में कैसे हैं हालात... 

पूरी दुनिया में अब तक 24,885 की मौत 

समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, दुनियाभर में कोरोना वायरस से अब तक 24,885 लोगों की मौत हो गई है जबकि 551,800 से ज्‍यादा संक्रमित हो चुके हैं। यह वायरस दुनिया के 202 देशों में फैल चुका है। 

रूस में होटल और रिसॉर्ट बंद किए गए

रूस ने सरकार द्वारा संचालित होटल, रिसॉर्ट और मनोरंजन सुविधा केंद्रों को शनिवार से एक जून तक के लिए बंद कर दिया है। इसके अलावा व्लादीमिर पुतिन ने अगले सप्ताह को गैर कामकाजी सप्ताह घोषित कर दिया है। साथ ही महामारी से सर्वाधिक प्रभावित मास्को में सभी कैफे हाउस, रेस्तरां को पांच अप्रैल तक बंद कर दिए गए हैं। रूस में संक्रमित लोगों की संख्या 1036 हो गई है।

...और खराब हो सकते हैं हालात: फ्रांस

फ्रांस में एक दिन में 365 लोगों की मौत हुई और संक्रमण के 2300 मामले सामने आए हैं। फ्रांस के प्रधानमंत्री ने देश में संक्रमण के मामलों में हो रही वृद्धि पर चिंता जताई और चेतावनी दी कि आने वाले दिनों हालात और खराब हो सकते हैं। वह वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कैबिनेट की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

स्पेन में पिछले चौबीस घंटे में 769 लोगों की मौत

स्पेन में पिछले चौबीस घंटे में 769 लोगों की मौत हुई है। यह एक दिन में मरने वालों की सर्वाधिक संख्या है। मरने वालों की संख्या 4858 हो गई है। संक्रमित लोगों की संख्या 64,059 हो गई है। संक्रमण के नए मामलों में चार फीसद की कमी आई है।

ईरान में मेथेनॉल पीने से सैकड़ों की जान गई

ईरान में मेथेनॉल पीने से सैकड़ों लोगों के मरने की बात सामने आई है। दरअसल, सोशल मीडिया में इस प्रकार की चर्चा चल रही थी कि मेथेनॉल पीने से कोरोना का संक्रमण नहीं होता है। जिसके बाद पूरे ईरान में कई लोगों ने मेथेनॉल पी। ईरानी मीडिया के मुताबिक अभी तक लगभग 300 लोगों की मौत हुई है जबकि 1,000 से अधिक बीमार हैं। वहीं ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़े एक डॉक्टर के मुताबिक यह संख्या पांच सौ के लगभग है।

दक्षिण अफ्रीका में दो लोगों की मौत

संक्रमण से शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका में दो लोगों की मौत हो गई। वहीं संक्रमित लोगों की संख्या एक हजार से ज्यादा हो गई है। गुरुवार रात से वहां तीन सप्ताह का लॉकडाउन का एलान किया गया, लेकिन इसके तत्काल बाद कई फूड स्टोर और बस टर्मिनल के बाहर भारी भीड़ दिखाई दी। केन्या, रवांडा और माली में संक्रमण के 3200 केस हैं जबकि 89 लोगों की मौत हो चुकी है।

सोशल डिस्‍टेंसिंग पर सिंगापुर में सख्‍ती

- अमेरिका के विमानवाहक पोत यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट में संक्रमित लोगों की संख्या 23 हो गई है।

- कोरोना के संक्रमण से इटली में 101 साल का बुजुर्ग ठीक हुआ।

- विदेश से ऑस्ट्रेलिया लौटने वाले नागरिकों को अनिवार्य रूप से चौदह दिनों तक आइसोलेशन में रहना होगा।

- छह फुट की दूरी पर नहीं खड़े होने पर सिंगापुर में छह महीने की जेल भेजने की बात कही है।

- हांगकांग में चार से ज्यादा लोगों के एक जगह एकत्र होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

देश मौतें संक्रमित

इटली- 8215 - 80,589

स्पेन- 4858 - 64,059

चीन- 3292 - 81,340

ईरान- 2,378 - 32,332

अमेरिका- 1290 - 85,600

फ्रांस- 1696 - 29,155

ब्रिटेन- 578 - 11,658

कोरोना की मार से दहला अमेरिका

अमेरिका में गुरुवार को 16,000 से अधिक संक्रमण के मामले सामने आने के बाद संक्रमित व्यक्तियों की संख्या पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा 85,600 हो गई है। केवल एक हफ्ते के भीतर संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में 10 गुना का इजाफा हुआ है। सात दिन पहले यह आंकड़ा मात्र आठ हजार था। बता दें कि चीन में अब तक संक्रमण के 81,340 मामले सामने आ चुके हैं। जबकि वहां पर 3292 लोगों की मौत हो चुकी है।

1290 अमेरिकियों की मौत

वेबसाइट व‌र्ल्डओमीटर के अनुसार गुरुवार रात तक अमेरिका में 85,600 लोग संक्रमित थे। एक दिन में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में 16,877 का इजाफा हुआ था। गुरुवार को 263 लोगों की मौत भी हुई। यह एक दिन में होने वाली सबसे अधिक मौतें हैं। अब तक इस महामारी के प्रकोप से 1290 अमेरिकियों की मौत हो चुकी है। जो लोग संक्रमित हैं, उनमें से दो हजार की हालत गंभीर है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में संक्रमित और मृतकों की संख्या बढ़ सकती है।

ट्रंप बोले- चीन के आंकड़े कोई नहीं जानता

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि बड़े पैमाने पर किए जा रहे टेस्ट के फलस्वरूप संक्रमित लोगों का पता चल रहा है। उन्होंने कहा कि कोई नहीं जानता है कि चीन में संक्रमित होने वाले और मृतकों की संख्या कितनी है। उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा कि जो अस्पताल और लेबोरेटरी टेस्ट कर रही हैं, वह सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल और फेडरल इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी से अपने आंकड़े का साझा करें, जिससे सरकार को सही स्थिति समझने में मदद मिल सके। उधर, एबोट लेबोरेटरी ने एफडीए को एक प्रस्ताव दिया है, जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति डॉक्टर के पास जाकर अपना परीक्षण करा सकता है। इसकी रिपोर्ट 15 मिनट में आने की बात कही गई हैं।

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस