मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सूत्र, मेदिनीपुर : विकास की रफ्तार संग तालमेल नहीं बैठा पा रहे प्रदेश के जंगल महल अंतर्गत पश्चिम मेदिनीपुर, झाड़ग्राम, पुरुलिया व बांकुड़ा जनपद के वरीय अधिकारियों संग विधानसभा स्टैं¨डग कमेटी के चेयरमैन मुईनुल हक ने गुरुवार को बैठक की। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के मेदिनीपुर शहर स्थित सर्किट हाउस में दोपहर 12 बजे से आरंभ हुई बैठक 2.30 बजे तक चली।

बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मुईनुल हक ने कहा कि विकास में पीछे चल रहे पश्चिम मेदिनीपुर, झाड़ग्राम, पुरुलिया व बांकुड़ा जनपद के प्रशासनिक अधिकारी ही वास्तव में इसमें सबसे बड़े बाधक बने हैं। विभिन्न कारणों का हवाला देते हुए वह समस्याओं के समाधान की बजाय उसे और अधिक उलझा देते हैं। यही कारण है कि प्रदेश सरकार द्वारा विकास निधि आवंटित किए जाने के बावजूद स्थिति नहीं बदल रही है। विदित हो कि केंद्र सरकार ने पश्चिम मेदिनीपुर, झाड़ग्राम, पुरुलिया व बांकुड़ा जनपद को पिछड़े जनपदों की श्रेणी में मानते हुए यहां पर विकास कार्यों की नजरदारी स्वयं करने की बात कही थी, जिस पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। इसी परिप्रेक्ष्य में गुरुवार को विधानसभा स्टैं¨डग कमेटी के चेयरमैन मुईनुल हक विभागीय अधिकारियों संग बैठक के लिए पहुंचे थे। बैठक में पश्चिम मेदिनीपुर, झाड़ग्राम, पुरुलिया व बांकुड़ा के जिलाधिकारी व जिला परिषद अध्यक्ष समेत अन्य वरीय अधिकारी शामिल रहे। चेयरमैन मुईनुल हक ने कहा कि जंगल महल में विकास की अपार संभावनाएं हैं, हालांकि अब तक उसका उपयोग नहीं हो सका है। इस बाबत एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर वह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को सौंपेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप