जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी। करला नदी में फेंके गए मछली पकड़ने के जाल में फंस कर एक पक्षी को छटपटाते देख स्थानीय दो युवकों ने जान खतरे में डाल पक्षी को बचाने के लिए नदी में कूद पड़े। स्थानीय लोगों के सहयोग से जाल काट कर युवकों ने पक्षी की जान बचाई। साहसी दोनों युवकों के नाम नीलकमल राय व तलु राय है। दोनों मजदूर हैं। पक्षी की जान बचा पाकर दोनों युवक बेहद खुश हुए।

युवकों ने कहा कि करला नदी के बीचो बीच एक प्राणी को उनलोगों ने छटपटाते देखा। तीन चिल पक्षी उस प्राणी को मारने की कोशिश कर रहे थे। करला नदी के बीच नदी का जलस्तर गहरा होने के कारण उन्हें वहां जाने में डर लग रहा था। बाद में उनलोगों ने साहस का परिचय देते हुए नदी के बीच पहुंचे।

युवकों ने देखा कि एक पक्षी मछली पकड़ने के जाल में फंस गया है। चिल पक्षी आकर उसे मारने की कोशिश कर रहे थे। बाद में जाल काट कर पक्षी की जान बचाई गई।

जलपाईगुड़ी समाज व नदी बचाओ कमेटी के सचिव संजीव बाबू को इस घटना की खबर मिलते ही वह घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने रोष प्रकट करते हुए कहा कि सिंचाई विभाग अपनी काम में लापरवाही बरत रही है। रात के अंधेरे में नदी में मछली पकड़ने के लिए जाल बिछाया जा रहा है। जाल में फंस कर दूसरे प्राणियों की मौत हो रही है। उन्होंने कहा कि सिंचाई विभाग को आरोपित के खिलाफ उचित कार्रवाई करनी चाहिए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस