कोलकाता, जागरण संवाददाता। वेस्ट बंगाल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने बुधवार को अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर माध्यमिक परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं। परीक्षा में 689 अंक लेकर कूचबिहार जिले की संजीवनी देवनाथ ने टॉप किया है।

पश्चिम बंगाल माध्यमिक परीक्षा में 85.05 फीसद छात्र पास हुए हैं। पूर्व मेदिनीपुर जिले में 96.13 फीसद छात्र पास हुए हैं। पास पर्सेंटेज के मामले में पूर्व मेदिनीपुर जिला पहले पायदान पर है। इसके बाद पश्चिम मेदिनीपुर और कोलकाता हैं। कोलकाता के 91.11 फीसद छात्र पास हुए हैं।

पहले नंबर पर संजीवनी देवनाथ हैं जिन्होंने 700 में से 689 अंक हासिल किए हैं। दूसरे नंबर पर पूर्व वर्धमान के शिरशेन्दु साहा हैं जिन्होंने 700 में से 688 अंक हासिल किए हैं। तीसरे नंबर पर तीन स्टूडेंट्स हैं, 687 अंक लाकर मयूराक्षी साहा, नीलांजना दास और मृण्मय मंडल संयुक्त रूप से तीसरे पायदान पर हैं। बरानगर हाई स्कूल से सार्थक तालुकदार कोलकाता में शीर्ष स्थान पर हैं ।

उनका समग्र रैंक 683/700 अंकों के साथ 7वां है. प्रेरणा मंडल ने आंठवां स्थान प्राप्त किया है। इस साल 11 लाख से ज्यादा छात्र 10वीं की परीक्षा दी। 2018 में परीक्षा के लिए पंजीकृत कराने वाले कुल 11,02,921 छात्रों में से 6,21,366 लड़कियां थी जबकि 4,81,555 लड़के थे। परीक्षा का आयोजन राज्य के 2,819 केंद्रों पर किया गया। परीक्षा में छात्रों को भाषा के दो पेपर पहली भाषा और दूसरी भाषा आए थे।

पहली भाषाओं में बंगाली, इंग्लिश, गुजराती, हिंदी, आधुनिक तिब्बती, नेपाली, ओड़िया, गुरमुखी (पंजाबी), तेलुगु, तमिल, उर्दू और संथाली शामिल थी। दूसरी भाषा ऊपर की लिस्ट में से ही कोई एक भाषा थी।

जैसे अगर बंगाली पहली भाषा हुई तो उसको छोड़कर बाकी कोई भाषा दूसरी भाषा थी। पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 10वीं की परीक्षा 12-21 मार्च 2018 तक आयोजित की थी।  

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप