राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल में कोरोना वैक्सीन को लेकर घमासान जारी है। मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी द्वारा केंद्र सरकार पर बंगाल को कम कोरोना वैक्सीन दिए जाने के लगातार आरोपों के बाद अब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और भाजपा विधायक सुवेंदु अधिकारी ने गुरुवार को पलटवार करते हुए उन पर निशाना साधा। सुवेंदु ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के पार्टी कार्यालय से कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए कूपन दिए जा रहे हैं।

कोलकाता के हेस्टिंग्स स्थित कार्यालय में पार्टी के बंगाल स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान के शुभारंभ के मौके पर उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए कार्य करने के अपराध में राज्य में लाखों कार्यकर्ताओं/समर्थकों को टीकाकरण से वंचित रखा जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि टीएमसी के पार्टी कार्यालय से सिर्फ अपने लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए कूपन दिए जा रहे हैं, जो अवैध है।

सुवेंदु ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के पास पहले ही उन्होंने इसकी शिकायत की है। पार्टी कार्यालय का उपयोग किसी भी तरह से टीकाकरण के लिए नहीं किया जा सकता है। उन्होंने केंद्र सरकार के अधीन वाले संस्थानों जैसे- रेलवे अस्पतालों, ईएसआई अस्पतालों आदि में आम लोगों के लिए टीकाकरण की व्यवस्था करने का भी अनुरोध किया।

ममता के पत्र के जवाब में पीएम को सुवेंदु भी लिखेंगे पत्र

दूसरी ओर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में बाढ़ की स्थिति के लिए दामोदर घाटी निगम (डीवीसी) को जिम्मेदार ठहराते हुए बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर शिकायत की थी। साथ ही फोन पर बातचीत के दौरान भी शिकायत की थी। इसको लेकर भी सुवेंदु ने ममता पर निशाना साधा है।

सुवेंदु ने कहा कि राज्य में बाढ़ और कोलकाता के सॉल्टलेक जैसे सबसे पॉस इलाके में जलजमाव की स्थिति के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने डीवीसी पर लगाए आरोप को पूरी तरह से झूठ व आधारहीन बताते हुए कहा कि वह भी इस मुद्दे पर पीएम को पत्र लिखकर जानकारी देंगे।

सुवेंदु ने कहा, राज्य सरकार के प्रतिनिधि भी डीवीसी में हैं। 27 जुलाई को ही डीवीसी ने राज्य सरकार को अलर्ट किया था, लेकिन बावजूद इसके सरकार ने एहतियातन कोई कदम नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री झूठी बात कर केवल लोगों को दिग्भ्रमित कर रही हैं।

Edited By: Vijay Kumar