राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में चुनाव के बाद राजनीतिक हिंसा और मौजूदा सियासी घटनाक्रम के बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ मंगलवार की देर रात दिल्ली पहुंचे। राजभवन सूत्रों के अनुसार, उनका गृह मंत्री अमित शाह के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने का कार्यक्रम है। प्रधानमंत्री व गृहमंत्री से मुलाकात कर राज्यपाल उन्हें बंगाल में कानून व्यवस्था की ताजा स्थिति की जानकारी देंगे।

गौरतलब है कि बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी की अगुआई में भाजपा के 50 विधायकों के प्रतिनिधिदल ने सोमवार को राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात की थी। उसके एक दिन बाद ही राज्यपाल का दिल्ली जाना इस लिहाज से काफी महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। सूत्रों का यह भी कहना है कि राज्यपाल का दिल्ली दौरा सुवेंदु अधिकारी के उनसे आकर मिलने के बाद अचानक से तय हुआ है।

भाजपा प्रतिनिधिदल ने धनखड़ से मुलाकात कर बंगाल में चुनाव बाद जारी हिंसा, दलबदल विरोधी कानून समेत अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर बातचीत की थी। इसके बाद राज्यपाल ने ममता सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था-' बंगाल में लोकतंत्र आखिरी सांसें गिन रहा है। हम बंगाल को खून से सना हुआ नहीं देखना चाहते। इस धरती पर हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है।

गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर ने कहा था कि जहां मन भय रहित है, वहां पर सिर ऊंचा रहता है। मैं जानता हूं कि यहां पर किसी का मन भयमुक्त नहीं है।' धनखड़ ने आगे कहा था-'मुझे उम्मीद है कि मुख्यमंत्री आवश्यक कदम उठाएंगी और सरकार सकारात्मक रुख अपनाएगी। हम बंगाल में आग नहीं लगने दे सकते।' बता दें कि राज्यपाल हिंसा को लेकर लगातार ममता सरकार के खिलाफ मुखर रहे हैं। जुलाई, 2019 में बंगाल के राज्यपाल का पदभार संभालने के बाद से ही धनखड़ का ममता सरकार के साथ रिश्ते बेहद तल्ख हैं।। 

Edited By: Priti Jha