कोलकाता, जागरण संवाददाता। कोरोना से लड़ने एनसीसी कैडेट भी कोलकाता की सड़कों पर उतर गए हैं और राज्य प्रशासन की मदद कर रहे हैं। एनसीसी के पश्चिम बंगाल एवं सिक्किम निदेशालय के जन संपर्क अधिकारी मेजर डॉक्टर बी.बी. सिंह ने बताया-'फिलहाल 50 कैडेटों की टीम ड्यूटी कर रही है। धीरे-धीरे उनकी संख्या बढ़ाई जाएगी। कैडेट सड़कों पर बेवजह घूमने वाले लोगों को उनके घर भेज रहे हैं। जरुरतमंदों में खाने-पीने के पैकेट बांट रहे हैं। पैकेट बांटने के लिए रुपये का जुगाड़ कैडेटों ने खुद से किया है। 

मेजर डॉक्टर सिंह ने आगे कहा-'कैडेट इस समय कॉलेज स्ट्रीट, बड़ाबाजार और श्यामबाजार जैसे महानगर के महत्वपूर्ण इलाकों में ड्यूटी कर रहे हैं। लॉक डाउन के दौरान ड्यूटी के लिए हमारे निदेशालय के लगभग 2,000 कैडेटों ने स्वैच्छिक तौर पर अपना नाम दर्ज कराया है। कैडेटों को चरणबद्ध तरीके से सड़कों पर उतारा जा रहा है। कैडेटों को आपात स्थिति में काम करने का विशेष प्रशिक्षण प्राप्त है।' 

कोरोना से निपटने में राज्य प्रशासन की मदद के लिए नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी) भी तैयार है। एनसीसी के पश्चिम बंगाल एवं सिक्किम निदेशालय के जन संपर्क अधिकारी कैप्टन डॉक्टर बी.बी. सिंह ने बताया-'केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुख्य सचिव की ओर से निर्देश जारी कर कहा गया था कि राज्य सरकारों के कहने पर एनसीसी उनकी मदद करने के लिए तैयार रहें। कई राज्यों में कैडेट सड़कों पर उतर चुके हैं और बेवजह बाहर घूम रहे लोगों को घर लौटाने, राशन बांटने इत्यादि कामों में प्रशासन की मदद कर रहे हैं। बंगाल सरकार की तरफ से अभी तक हमसे सहयोग नहीं मांगा गया है, लेकिन हम अपनी तरफ से पूरी तरह तैयार है। सरकार के कहते ही हमारे कैडेट सड़कों पर उतारकर मोर्चा संभाल लेंगे। ड्यूटी में लगाए जाने वाले कैडेटों की सूची तैयार है।  

कैडेटों को इस तरह की आपात स्थिति में काम करने का प्रशिक्षण प्राप्त है। बाढ़, भूकंप व अन्य आपदाओं के समय कैडेट प्रशासन की मदद करते आए हैं और इस वैश्विक त्रासदी के समय भी पूरी तरह से तैयार हैं।मौका मिला तो हम भी देश और समाज की सेवा करने के लिए तैयार हैं। सीनियर डिवीजन के लड़के और सीनियर विंग्स की लड़कियां ड्यूटी देंगी। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल और सिक्किम निदेशालय के तहत कुल एक लाख कैडेट्स हैं।

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुख्य सचिव की ओर से निर्देश जारी कर कहा गया था कि राज्य सरकारों के कहने पर एनसीसी उनकी मदद के लिए तैयार रहें।  

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस