राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कोरोना संक्रमित पति को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए जगह-जगह भटक रही एक महिला को लाचार होकर 33 हजार रुपये में एंबुलेंस को किराए पर लेना पड़ा, जिसके लिए उन्हें अपने गहने देने पड़े।समाज को शर्मसार करने वाली यह घटना हुगली जिले के कोन्नगर इलाके में सामने आई है। वहां की रहने वाली तनुश्री मजुमदार ने तीन दिन पहले कोरोना से संक्रमित अपने पति को हिंदमोटर के एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया था। पति की हालत काफी खराब होने पर नर्सिंग होम वालों ने तनुश्री को अपने पति को कोलकाता के किसी अस्पताल में भर्ती करवाने की सलाह दी थी।

कोलकाता ले जाने के लिए तनुश्री ने एक एंबुलेंस किराए पर लिया था। तकरीबन छह घंटे कोलकाता  के विभिन्न अस्पतालों में घूमने के बाद उनके पति को कोई अस्पताल में जगह नही मिल पाई। इसके बाद वे उसी एंबुलेंस से उत्तरपाड़ा पहुंची। छह घंटे के एंबुलेंस के किराये के तौर पर चालक 33 हजार रुपये मांगे। चालक के जबरदस्ती करने पर तनुश्री को अपनी सोने की चेन उसे किराए की रकम के तौर पर देनी पड़ी। उसके बाद चालक ने उसके पति को एंबुलेंस से उतारा। तनुश्री ने इस घटना की शिकायत थाने में की है। लोगों का कहना है जहां एक ऒर कोरोना मरीजों के परिवारवालों को इलाज के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही है, वही दवाई, ऑक्सीजन तथा एंबुलेंस के नाम कुछ लोग असहाय जनों से जबरन रुपये  वसूल रहे हैं।  पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Edited By: Vijay Kumar