राज्य ब्यूरो, कोलकाता । केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह इंस्टीट्यूट जल जीवन मिशन को आगे बढ़ाने के लिए फील्ड ऑफिसर्स के साथ-साथ सामुदायिक कौशल विकास में भी बड़ी भूमिका निभाने वाला है। केंद्रीय मंत्री ने इंस्टीट्यूट में बैठक लेकर यहां की व्यवस्था और संचालन संबंधी जानकारियां लीं तथा संबंधितों को जरूरी सलाह भी दी। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के लोग दशकों से आर्सेनिक युक्त पानी की समस्या से जूझ रहे हैं।

जल जीवन मिशन उन्हें इस अभिशाप से मुक्ति दिला सकता है, लेकिन पश्चिम बंगाल में यह योजना बेहद धीमी रफ्तार से चल रही है। हाल में संसद में पेश रिपोर्ट के अनुसार बंगाल में केवल 10.98 फीसद ग्रामीण आवासों तक नल से जल पहुंचा है।

राज्यपाल से मिले शेखावत

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने अपने प्रवास के दौरान बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से भी शिष्टाचार भेंट की। शेखावत ने अपने बयान में कहा कि राज्यपाल धनखड़ को राजनीति और जनसेवा का दीर्घ अनुभव है। उनसे एक सुखद और सकारात्मक वार्ता हुई। राज्यपाल से पश्चिम बंगाल में जल जीवन मिशन की प्रगति पर भी चर्चा हुई। 

Edited By: Priti Jha