कोलकाता, राज्य ब्यूरो। त्रिपुरा विधानसभा उपचुनाव (Tripura Assembly By-election) में भाजपा (BJP) ने चार में से तीन सीटों पर जीत हासिल की है। मुख्यमंत्री माणिक साहा (CM Manik Saha) ने टाउन बारदोवाली सीट से जीत हासिल कर विपरोधियों के मुंह को बंद कर दिया है। भाजपा ने टाउन बोरदोवाली, जुबराजपुर और सूरमा सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि अगरतला सीट से कांग्रेस उम्मीदवार सुदीप्त राय बर्मन (Sudeept Rai Barman) ने जीते हैं। वहीं इन चारों ही सीटों पर तृणमूल कांग्रेस चौथे स्थान पर रही है। इसे लेकर बंगाल भाजपा के नेताओं ने तृणमूल कांग्रेस पर तंज कसना शुरू कर दिया है। बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikark) ने तृणमूल कांग्रेस (TMC) पर तंज कसते हुए कहा कि चोरों की पार्टी को कोई भी कहीं स्वीकार नहीं करेगा। यदि बंगाल में भी रीगिंग बंद हो जाए, तो यहां भी तृणमूल का यही हाल होगा।

बता दें कि पिछले वर्ष बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत के बाद तृणमूल कांग्रेस दूसरे राज्यों में विस्तार की कोशिश कर रही है। त्रिपुरा उपचुनाव में चुनाव प्रचार के लिए खुद तृणमूल महासचिव व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamta Banerji) के भतीजे अभिषेक बनर्जी (Abhishekh Banerji) ने दो बार त्रिपुरा में जनसभा व रोड शो किया था। लेकिन त्रिपुरा निगम चुनाव के बाद उपुचनाव में भी तृणमूल का खाता नहीं खोल पाई। रविवार को नेता प्रतिपक्ष और नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुवेंदु अधिकारी ने तृणमूल पर तंज कसते हुए कहा कि मैंने मैं जो कहा था, वही हुआ है। तोलामूल (तृणमूल) चौथे स्थान पर रही है। सभी सीटों पर जमानत जब्त हो गई। यदि बंगाल में छप्पा वोट नहीं हो, तो बंगाल में भी ऐसा ही हाल होगा।

बता दें कि सुवेंदु अधिकारी लगातार तृणमूल कांग्रेस पर हमला बोल रहे हैं। वहीं,तृणमूल कांग्रेस ने भी सुवेंदु अधिकारी के खिलाफ अभियान शुरू किया है और सारधा चिटफंड मामले में उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़क पर उतरने की घोषणा की है। बंगाल भाजपा के केंद्रीय सह प्रभारी अमित मालवीय ने ट्वीट किया कि त्रिपुरा में हुए चुनाव में भाजपा ने 3/4 सीटें जीती हैं। टाउन बारदोवाली विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री माणिक साहा ने आराम से जीत हासिल की, लेकिन असली खबर यह है कि ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस सभी मुकाबलों में चौथे स्थान पर रही और अपनी जमानत गंवाई। बंगाल में भी इसी तरह की अप्रासंगिकता उनका इंतजार कर रही है।

Edited By: Sumita Jaiswal