मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कोलकाता, जागरण संवाददाता। Transgender महाभारत के 11 नारी चरित्रों में ट्रांसजेंडर नजर आए। महानगर के आइसीसीआर स्थित सत्यजीत रे ऑडिटोरियम में 'महामानबी' नामक नृत्य नाटिका में उन्होंने अपनी कलाकारी से सबको मुग्ध कर दिया।

सातवें 'ऋतु उत्सव' के तहत ट्रांसजेंडर कलाकारों की नाटक मंडली रूद्रपलाश की ओर से इस नृत्य नाटिका का मंचन किया गया था। ट्रांसजेंडरों ने महाभारत के जिन नारी चरित्रों को निभाया, उनमें गंगा, सत्यवती, कुंती, द्रौपदी, अंबा, माद्री, गंधारी, चित्रांगदा, शुभद्रा, उत्तरा और शिखंडी शामिल थे।

रूद्रपलाश की प्रमुख मेघ सायंतनी घोष ने कहा-'बंगाल के प्रख्यात फिल्मकार ऋतुपर्णो घोष को श्रद्धांजलि स्वरूप हम ऋतु उत्सव का आयोजन करते आ रहे हैं। इसी के तहत इस बार नृत्य नाटिका 'महामानबी' का मंचन किया गया।

देश में पहली बार इस तरह की किसी नृत्य नाटिका का आयोजन हुआ है, जिसके जरिए हमने ट्रांसजेंडर समुदाय की सांस्कृतिक प्रतिभा दिखाने के साथ-साथ यह बतलाने की भी कोशिश की है कि हमें किसी की सहानुभूति की जरुरत नहीं है। हमें समाज के हरेक क्षेत्र में समान अधिकार दिया जाना चाहिए।' नृत्य नाटिका का निर्देशन मेघ सायंती घोष ने किया। इसकी पटकथा भाशवती दत्ता ने लिखी है। नृत्य नाटिका के बाद 11 ट्रांसमेन और ट्रांसवूमेन को 'पड़ा-प्रकृति सम्मान' से सम्मानित किया गया।

 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप