कोलकाता, जागरण संवाददाता। Durga Puja 2019: Kolkata में कोलकाता के भवानीपुर में स्वर्ण मंदिर की तर्ज पर बने पूजा पंडाल का सिख समुदाय के लोगों ने विरोध किया है। उन्होंने ने आरोप लगाया कि जानबूझकर हमारी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के मकसद से पूजा आयोजन कमेटी की ओर से ऐसा किया गया है। साथ ही राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से आयोजन कमेटी को जवाब-तलब करने की भी गुहार लगाई।

गौरतलब है कि भिन्न-भिन्न थीम के दुर्गा पूजा पंडाल को मशहूर महानगर के उदयन पार्क के पंडाल की थीम गोल्डन टेंपल है। बढ़ते विवाद को देख आयोजन कमेटी की ओर से कहा गया कि हमने पंडाल के जरिए सामाजिक सौहार्द व एकता को दर्शाने की कोशिश की, न कि हमारी मंशा किसी के धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने की थी।

दरअसल, गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के उपलक्ष में इस बार उदयन पार्क दुर्गोत्सव कमेटी ने पंडाल को स्वर्ण मंदिर के रूप में सजाया है। गोल्डन टेंपल की तरह ही स्वर्ण व सफेद रंग से पंडाल को बनाया गया और पंडाल के दोनों ओर पानी का कुंड भी बनाया गया। यहां पर स्वर्ण मंदिर की ही तरह रोज लंगर का भी आयोजन किया गया था। 

पूजा पर सुरक्षा हुई चाक चौबंद

दुर्गा पूजा पर जुटने वाली यात्रियों की अत्याधिक भीड़ को देखते हुए पूर्व रेलवे के सियालदह डिवीजन में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है। सियालदह समेत राणाघाट, बैरकपुर जैसे व्यस्त स्टेशनों में आरपीएफ को सतर्क रखने के निर्देश दिए गए हैं। सीसीटीवी कैमरों से भी स्टेशन परिसर में होने वाली हरेक गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। मध्यरात्रि में चलने वाली पूजा स्पेशल ट्रेनों में आरपीएफ एस्कार्ट को लगाया गया है। छेड़छाड़ की घटनाएं रोकने के लिए सादी वर्दी में सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं।

सूत्रों के अनुसार कोलकाता में पूजा पंडाल व दुर्गा प्रतिमाओं को देखने के लिए मुर्शिदाबाद, नदिया और उत्तर 24 परगना से आने वाले लोगों की भीड़ को देखते हुए आरपीएफ ने भी सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त कर दिए हैं। राणाघाट पोस्ट कमांडर असीम दास के नेतृत्व में आरपीएफ जवानों ने शांतिपुर, गेदे समेत अन्य स्टेशनों में पहुंचकर चेकिंग की। साथ ही यात्रियों को भी किसी अनजान से दोस्ती नहीं करने एवं संदिग्ध वस्तु को नहीं छूने की अपील की।

महिलाओं को आपात स्थिति में सुरक्षा हेल्पलाइन 182 पर मदद लेने के लिए जागरूक किया गया। प्लेटफार्म पर सादी वर्दी में जवानों की तैनाती की गई। एक-एक सब इंस्पेक्टर के नेतृत्व में जवानों की 12-12 घंटे की ड्यूटी लगाई गई। बैरकपुर में भी यात्रियों की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा को चाक चौबंद कर दिया गया। पोस्ट कमांडर जयंत मुखर्जी के नेतृत्व में सुरक्षा कर्मियों ने स्टेशन परिसर में चेकिंग की। ट्रेन पकड़ने के लिए यात्रियों से जल्दबाजी नहीं करने की अपील की गई। सियालदह, बालीगंज में भी यात्रियों की भीड़ को देखते हुए अतिरिक्त जवानों की तैनाती की गई।

सीसीटीवी कंट्रोल रूम से स्टेशन परिसर व प्लेटफार्म पर होने वाली हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। आपात स्थिति से निपटने के लिए मेडिकल टीम, एंबुलेंस के साथ ही लोकल पुलिस की तैनाती की गई है। मध्यरात्रि चलने वाली पूजा स्पेशल ट्रेनों में महिला सुरक्षा को प्राथमिकता पर रखा गया है। महिला कोचों में आरपीएफ एस्कार्ट को लगाया गया है। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप