राज्य ब्यूरो, कोलकाता। राज्य सरकार द्वारा नियम में बदलाव लाने के बाद अब एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या में इजाफा हो रहा है। एयरपोर्ट अधिकारी के मुताबिक जैसे ही राज्य सरकार की ओर से डबल डोज लेकर आने वाले यात्रियों को बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के आने की अनुमति मिली, एयरपोर्ट पर यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गयी। डबल डोज वाले यात्रियों को अब सहूलियत मिल रही है। यही कारण है कि उड़ानों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। पिछले सप्ताह में आने व जाने वाली दोनों ओर की उड़ानों को मिलकर उड़ानों की संख्या 160 से 170 के बीच की थी। वहीं दोनों ओर से आने व जाने वाले यात्रियों की संख्या 15 हजार के लगभग की थी। इसमें अब एक सप्ताह के भीतर ही बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। डबल डोज वाले या​त्रियों को अनुमति मिलने के बाद अब यात्रियों की संख्या में तथा उड़ानों की संख्या में अच्छा खासा इजाफा हुआ है।

उड़ानों की संख्या 30 तो यात्रियों की संख्या और 5 हजार बढ़ी

कोलकाता एयरपोर्ट पर गत दिनों के आंकड़ों पर नजर डालें तो कोलकाता में कुल 104 उड़ानें आयी हैं तथा 101 उड़ानें कोलकाता से विभिन्न गंतव्यों के लिए संचालित हुई हैं। वहीं इन उड़ानों से कोलकाता में 9767 यात्री पहुंचे थे तथा कोलकाता से 9869 की संख्या में यात्रियों विभिन्न गंतव्यों के लिए उड़ान भरी। बताया गया है कि उड़ानों की संख्या जहां 30 के करीब में बढ़ी है। यानी कि अब 200 से अधिक उड़ानें संचालित हो रही हैं तो यात्रियों की संख्या 15000 से 20000 तक पहुंच गयी है। इसके आने वाले दिनों में और बढ़ने की संभावना है। ऐसी बढ़ाेतरी तब है जब अब भी कोलकाता एयरपोर्ट पर 5 प्रमुख स्थानों मुंबई, चेन्नई, पुणे, नागपुर और अहमदाबाद से आने वाली उड़ानों पर आंशिक प्रतिबंध है। ऐसे में भी एयरपोर्ट पर या​त्रियों की संख्या बढ़ रही है।

उल्लेखनीय है कि कोलकाता एयरपोर्ट पर इससे पहले सिर्फ और सिर्फ आरटीपीसीआर रिपोर्ट के साथ आने वाले यात्रियों को ही अनुमति थी। इस कारण कोलकाता आने में लोग हिचकिचाते थे। काफी संख्या में यात्री यहां उड़ानों से आने में बचते थे। वहीं अन्य रूटों का इस्तेमाल कर कोलकाता आने की कोशिश में रहते थे। पिछले सोमवार से जैसे ही राज्य सरकार द्वारा यात्रियों को एक और अतिरिक्त ऑप्शन मिला जहां वे या तो डबल वैक्सीन के साथ या फिर आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के साथ कोलकाता में आ सकते हैं, इसके बाद ही एयरलाइंसों में काफी बुकिंग होने लगी। वहीं दूसरी ओर यात्रियों की ओर से इन 5 स्थानों पर से आंशिक प्रतिबंध को हटाने की लगातार मांग लगातार की जा रही है।

ऐसे समझें नियम

यहां बता दें कि कोलकाता से जाने वाले यात्रियों के लिए कोलकाता एयरपोर्ट पर कोई नियम नहीं था, यानी कि यहां के एयरपोर्ट पर जाने वाले यात्रियों को कोई रिपोर्ट दिखानी नहीं होती थी जो कि अब भी यहां से जाते वक्त कोई रिपोर्ट दिखानी नहीं पड़ती है। वहीं पहले बाहर से आने वाले यात्रियों को निगेटिव रिपोर्ट दिखाना ही एक मात्र विकल्प था लेकिन अब डबल डोज सर्टिफिकेट होने पर इसकी जरूरत नहीं पड़ती। जैसे कि अगर कोई यात्री कोलकाता से दिल्ली जा रहा है तो उसे कोई आरटीपीसीआर की​ रिपोर्ट न तो यहां न वहां दिखानी होती है लेकिन अगर यात्री दिल्ली से कोलकाता आता है तो उसे आरटीपीसीआर रिपोर्ट जो कि पहले मस्ट थी लेकिन अब या तो निगेटिव रिपोर्ट या फिर डबल डोज वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिखाना पड़ता है। वहीं कोलकाता से जाने वाले यात्रियों को गंतव्य एयरपोर्ट के लिए जरूरी गाइडलाइन माननी​ होती है। इसमें अगर यात्री पोर्ट ब्लेयर जाता है तो उसे कोलकाता से ही आरटीपीसीआर की रिपोर्ट लेकर जाना होगा है क्योंकि 72 घंटे के भीतर की निगेटिव रिपोर्ट को बिना दिखाये पोर्ट ब्लेयर एयरपोर्ट जा पाना नामुमकिन है। 

Edited By: Priti Jha