- अदभुत प्रस्तुति, मंत्रमुग्ध हुए श्रोता

- दक्षिण 24 परगना जिले के बारूईपुर जोन के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत बसु ने संगीत को बताया साधना

-उस्ताद जाकिर हुसैन, पंडित तेजेंद्रनारायण मजुमदार, पंडित विश्वमोहन भट्ट, उस्ताद राशिद खान और उस्ताद शाहिद परवेज जैसे प्रतिष्ठित कलाकारों के साथ इंद्रजीत कर चुके हैं परफॉर्म जागरण संवाददाता, कोलकाता : दक्षिण 24 परगना जिले के बारूईपुर जोन के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत बसु ने इंडियन काउंसिल फॉर कल्चरल रिलेशंस में आयोजित विशेष संगीत संध्या कार्यक्रम में सुप्रसिद्ध तबला वादक सौमेन सरकार संग बांसुरी वादन कर उपस्थित श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। मौके पर मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व बांसुरी वादक इंद्रजीत बसु ने कहा कि वे पेशे से एक पुलिस अधिकारी जरूर हैं, लेकिन संगीत उनकी साधना है और वे रोजाना रियाज करते हैं। बसु ने कहा कि काम और संगीत में सामंजस्य बना कर चलने के कारण उन्हें कभी कोई दिक्कत नहीं हुई और नियमित उत्तर भारतीय शास्त्रीय संगीत से संबध रागों का रियाज करता करते हैं। वहीं अपने मंचीय प्रस्तुति पर उन्होंने कहा कि कई बार एकल और जुगलबंदी प्रस्तुति दे चुका हूं। लेकिन इन सब के बीच खास बात यह है कि बसु सरोद, संतूर, सितार, शहनाई, वायलिन और सारंगी जैसे वाद्य यंत्रों के साथ ही स्वर संगीत के लिए भी बांसुरी बजा चुके हैं। आइसीसीआर के निदेशक गौतम दे (आइएफएस) ने कहा कि यह मेरे लिए किसी आश्चर्य से कम नहीं था, क्योंकि मेरे सामने एक पुलिस अधिकारी बांसुरी बजा रहा था और एकदम प्रोफेशनल की तरह। वहीं इंडियन नेशनल फोरम फॉर आर्ट एंड कल्चर के सास्कृतिक सचिव सुब्रत गागुली ने बसु की प्रस्तुति की प्रशंसा करते हुए उन्हें शंख भेंट कर सम्मानित किया। बता दें कि इससे पहले इंद्रजीत उस्ताद जाकिर हुसैन, पंडित तेजेंद्रनारायण मजुमदार, पंडित विश्वमोहन भट्ट, उस्ताद राशिद खान और उस्ताद शाहिद परवेज जैसे प्रतिष्ठित कलाकारों के साथ भी परफॉर्म कर चुके हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस