कोलकाता, विशाल श्रेष्ठ। मौसम विभाग ने दुर्गापूजा के समय बारिश की पहले ही आशंका जता दी थी, जो सच भी साबित हुई है, लेकिन बारिश की वजह से पूजा दर्शनार्थियों के उत्साह में जरा भी कमी नहीं आई है बल्कि यह और बढ़ गया है। ऐसा लग रहा है, मानों इस समय बारिश और पूजा दर्शनार्थियों में प्रतिस्पर्धा चल रही है। कोई झुकने को तैयार नहीं है।

बारिश रुकते ही पंडालों में उमड़ रही भीड़

कोलकाता समेत बंगाल के विभिन्न जिलों में अभी रुक-रुककर बारिश हो रही है। बारिश के समय पूजा पंडाल जरूर खाली नजर आ रहे हैं लेकिन जैसे ही बारिश रुक रही है, वहां पूजा दर्शनार्थियों का हुजूम उमड़ पड़ रहा है। दरअसल बात यह है कि लोग दुर्गापूजा में घूमने का मजा खोना नहीं चाहते इसलिए बारिश में भी घूमने को तैयार हैं।  ऐसा इसलिए भी है क्योंकि कोरोना महामारी के कारण लोग पिछले दो साल ठीक से घूम नहीं पाए। 2020 में तो कलकत्ता हाई कोर्ट ने आखिरी वक्त में पूजा पंडालों में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी। पिछले साल भी कोरोना का असर था इसलिए बहुत से लोग घूमने नहीं निकले थे। लेकिन, इस बार कोरोना महामारी पूरी तरह नियंत्रण में है इसलिए बच्चे-बड़े, सभी कमर कसकर तैयार हैं। पिछले दो साल बड़े पैमाने पर दुर्गापूजा का आयोजन भी नहीं हुआ था, लेकिन इस बार कोलकाता व विभिन्न जिलों में बेहद बड़े व आकर्षक पंडाल तैयार किए गए हैं, जिन्हें देखने का मौका लोग गंवाना नहीं चाहते हैं। इसलिए बारिश में छाता लेकर निकल पड़े हैं। महासप्तमी के बाद महाअष्टमी के दिन भी कोलकाता व विभिन्न जिलों में बारिश हो रही है लेकिन इसके बावजूद भीड़ कम नहीं है।

ठंडा नहीं पड़ा लोगों का उत्‍साह  

श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब का पंडाल देखकर निकलीं हावड़ा के बामनगाछी इलाके की रहने वाली जयंती सरकार ने कहा-' दुर्गापूजा हमारा सबसे बड़ा त्योहार है। हम सालभर बेसब्री से इसका इंतजार करते हैं। पिछले कुछ वर्षों से दुर्गापूजा के दौरान छिटपुट बारिश होती आ रही है, इसलिए हमने मान लिया है कि बारिश में ही घूमना पड़ेगा। हम बारिश को पूजा खराब करने नहीं देंगे। हमने छाता अपने साथ रखा है। जरूरत पड़ने पर रेनकोट पहनकर भी घूमेंगे।'

अपने चार दोस्तों के साथ घूमने निकले देशप्रिय पार्क इलाके के रहने वाले विजय माइती ने कहा-' दुर्गापूजा है तो घूमने निकलेंगे ही, फिर चाहे पानी ही क्यों न बरसे। बारिश हमें भींगा सकती है लेकिन हमारे उत्साह को ठंडा नहीं कर सकती। बारिश को देखते हुए हमने हल्के-फुल्के कपड़े पहन लिए हैं।'

Edited By: Sumita Jaiswal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट