राज्य ब्यूरो, कोलकाता। Coronavirus. अब मुर्शिदाबाद जिले में निजामुद्दीन के तब्लीगी जमात से आए एक व्यक्ति मिला है जिसे क्वारंटाइन कर दिया गया है। इससे पहले निजामुद्दीन से आए 74 से अधिक लोगों को क्वारंटाइन किया जा जुका है। तब्लीगी जमात से आए कोलकाता पत्तन न्यास के हल्दिया बंदरगाह परिसर में काम करने वाले एक व्यक्ति में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। कोलकाता पत्तन न्यास ने शनिवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी है।

वहीं दूसरी ओर मुर्शिदाबाद के रघुनाथगंज से जिला प्रशासन उक्त व्यक्ति को पकड़कर क्वारंटाइन में भेजा है। दिल्ली में निज़ामुद्दीन की तब्लीगी जमात की रैली में कौन शामिल हुआ और कौन वापस राज्य में आया है, इसकी जांच राज्य प्रशासन कर ही है। सूत्रों के अनुसार, राज्य स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं ताकि संबंधित लोगों के स्वास्थ्य परीक्षा में देरी न हो। केंद्र ने कल कहा था कि देश के 14 राज्यों में निजामुद्दीन के तब्लीगी जमात की वजह से कोरोना संक्रमण फैला है।

बंगाल में भी एक पुष्टि हो गई है कि निजामुद्दीन के तब्लीगी जमात से आए पोर्ट के ठेका श्रमिक कोरोना संक्रमित है। ताजा मामले के बाद पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर सरकारी आंकड़ा ४९ हो गई है। वहीं अब तक बंगाल में 68 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं जिनमें से 12 ठीक हो चुके हैं, जबकि सात लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि सरकारी आंकड़ों में कोरोना से मौत तीन है जबकि चार लोगों को अन्य बीमारी होने से मौत होने की बात कही गई है। पत्तन न्यास वक्तव्य में कहा गया है कि हल्दिया में हमारे एक ठेकेदार के कर्मचारी में दो अप्रैल को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। वह निजामुद्दीन से 24 मार्च को लौटा था। पश्चिम बंगाल सरकार ने ऐसे 65 लोगों की पहचान की है जो मार्च में दिल्ली में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए थे और उनके संपर्क में आए 200 लोगों को पृथक-वास में भेज दिया गया है। 

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस