कैचवर्ड - उत्सव का उत्साह

- देवी दर्शन व जश्न के साथ हुआ नववर्ष का आगाज

- महानगर के दर्शनीय स्थलों व पार्को में उमड़ी भीड़

जागरण संवाददाता, कोलकाता : कोलकाता समेत पूरे राज्य में बुधवार को नववर्ष की धूम रही। नए साल के शुभारंभ की कामना को जहा लोगों ने दक्षिणेश्वर व कालीघाट में मा काली के दर्शन किए तो वहीं महानगर समेत राज्य के दर्शनीय स्थलों और मनोरंजन केंद्रों की सैर कर लोगों ने नववर्ष का जश्न मनाया। 2020 की शुरुआत बुधवार को होने के कारण लोगों में दोगुनी खुशी देखी गई। लोगों ने अपने-अपने तरीके से नववर्ष मनाया। एक ओर होटलों, रेस्तरा और मॉल में भीड़ देखने को मिला तो वहीं शहर की सड़कों पर भी उत्सव का माहौल रहा। लोग नई उम्मीद और उमंग से लबरेज दिखे। पूरा महानगर रंगीन रोशनियों से सजा रहा। सज धज कर लोग कहीं पिकनिक मनाते व कहीं घूमते हुए दिखे। कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल, चिड़ियाखाना, साइंस सिटी, इको पार्क सहित कोलकाता के सभी पर्यटन स्थलों और पार्को में लोग उमड़ पड़े। हालांकि, विक्टोरिया मेमोरियल, चिड़ियाखाना, साइंस सिटी, भारतीय संग्रहालय, ईको पार्क, मैदान में लोगों की भारी भीड़ देखी गई। चारों ओर सिर्फ लोग ही लोग नजर आ रहे थे। कोलकाता के हर पार्क व मनोरंजन स्थलों पर एक ही नजारा दिखा। नववर्ष मनाने का उत्साह लोगों में चरम पर रहा। वहीं तारामंडल में लोगों की लंबी कतार देखी गई। ईको पार्क में तो मानों पूरा शहर उमड़ पड़ा हो। अपने परिवार के साथ लोग नववर्ष का लुत्फ उठाते दिखे। कल्पतरू उत्सव की रही धूम

- कल्पतरू उत्सव पर काशीपुर उद्यान बाटी व दक्षिणेश्वर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

महानगर के काशीपुर उद्यान बाटी में कल्पतरू उत्सव की धूम रही। यहा भक्तों का सैलाब पूजा-अर्चना को उमड़ा। दक्षिणेश्वर में मा काली के दर्शन के लिए भी श्रद्धालुओं की भीड़ रही। पूजा करने को मंगलवार देर रात से ही लोगों की कतार देखी गई। लोगों ने माता के दर्शन किए और प्रसाद चढ़ाया। रामकृष्ण परमहंस को मानने वाले कई आश्रमों में भी कल्पतरू उत्सव मानाया गया। इसके अलावा रामकृष्ण परमहंस के जन्म स्थल हुगली के कमारपुकुर में भी श्रद्धालुओं की भीड़ देखते बनी, जहां पूजा को आए भक्तों को मंदिर प्रबंधन की ओर से भोग के रूप में खिचड़ी और पूरी बतौर प्रसाद दिया गया। बधाई देने का चला दौर, जरूरतमंदों के बीच वितरित किए गए वस्त्र

बुधवार को पूरे दिन भर एक-दूसरे को नववर्ष की शुभकामनाएं देने का दौर चला। वॉट्सएप, सोशल मीडिया पर लोग एक-दूसरे को बधाई देते देखे गए। महानगर के कई क्लबों में विशेष कार्यक्रम किए गए। कई जगह जरूरतमंदों को भोजन व वस्त्र तो कई जगह सास्कृतिक कार्यक्रम हुए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस